काली पोस्टर विवाद: कनाडा से लेकर दिल्ली तक विरोध, लीना पर FIR दर्ज

भारत में भी इस पोस्टर को लेकर विवाद बढ़ रहा है। दिल्ली पुलिस ने भी काली फिल्म की निर्देशक लीना मणिमेकलाई के विवादस्पद पोस्टर के संबंध में IPC की धारा 153A और 295A के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। दूसरी ओर लीना ने ट्वीटर पर ​तमिल भाषा में लिखा कि मेरे पास खोने के लिए कुछ भी नहीं है।

काली पोस्टर विवाद: कनाडा से लेकर दिल्ली तक विरोध, लीना पर FIR दर्ज

कनाडा के ओटावा में मौजूद भारतीय उच्चायोग ने कनाडाई अधिकारियों से 'काली' नाम की फिल्म के विवादित पोस्टर से संबंधित सभी उत्तेजक सामग्री को हटाने का आग्रह किया है। आयोग ने बताया कि उन्हें कनाडा के हिंदू समुदाय के नेताओं से टोरंटो के आगा खान संग्रहालय में एक फिल्म के पोस्टर में हिंदू देवताओं के अपमानजनक चित्रण के बारे में शिकायतें मिली हैं।

एक आधिकारिक पत्र में भारतीय उच्चायोग ने कहा कि हमें कनाडा में हिंदू समुदाय के नेताओं से टोरंटो के आगा खान संग्रहालय में 'अंडर द टेंट' प्रोजेक्ट के हिस्से के रूप में प्रदर्शित एक फिल्म के पोस्टर पर हिंदू देवताओं के अपमानजनक चित्रण के बारे में शिकायतें मिली हैं। पत्र में आगे कहा गया है कि टोरंटो में हमारे महावाणिज्य दूतावास ने कार्यक्रम के आयोजकों को इन शिकायतों से अवगत कराया है। हमें यह भी बताया गया है कि कई हिंदू समूहों ने कार्रवाई के लिए कनाडा में अधिकारियों से भी संपर्क किया है। हम कनाडा के अधिकारियों और कार्यक्रम के आयोजकों से इस तरह की उत्तेजक सामग्री को वापस लेने का आग्रह करते हैं।

इतना ही नहीं भारत में भी इस पोस्टर को लेकर विवाद बढ़ रहा है। दिल्ली पुलिस ने भी काली फिल्म की निर्देशक लीना मणिमेकलाई के विवादस्पद पोस्टर के संबंध में IPC की धारा 153A और 295A के तहत प्राथमिकी दर्ज की है। इसके अलावा उत्तर प्रदेश पुलिस ने भी निर्देशक के खिलाफ आपराधिक साजिश, पूजा स्थल पर अपराध, जानबूझकर धार्मिक भावनाओं को आहत करने के इरादे से शांति भंग करने के आरोप में प्राथमिकी दर्ज की है।

आखिर है क्या पोस्टर में, तो जान लीजिए कि डॉक्यूमेंट्री फिल्म 'काली' के पोस्टर में एक महिला को देवी के रूप में कपड़े पहने हुए दिखाया गया है और वह महिला हाथ में सिगरेट पीते हुए दिखाई गई है। पोस्टर में देवी काली के चित्रण के बाद सोशल मीडिया के एक वर्ग ने विरोध करना शुरू कर दिया और वे लीना मणिमेकलाई की गिरफ्तारी की भी मांग करने लगे। विवाद बढ़ता देख लीना ने ट्वीटर पर ​तमिल भाषा में लिखा कि मेरे पास खोने के लिए कुछ भी नहीं है। मैं एक ऐसी आवाज के साथ रहना चाहती हूं जो बिना किसी डर के बोले जब तक कि वह जिंदा है। अगर कीमत मेरी जान है तो मैं दूंगी। बता दें कि लीना ने यह पोस्टर 2 जून को बढ़े चाव के साथ ट्विटर पर शेयर किया था।