जूनियर विंबलडन चैंपियनशिप में समीर बनर्जी ने रचा इतिहास, जीता यह बड़ा खिताब

समीर बनर्जी विंबलडन चैंपियनशिप में 'ग्रैंड स्लैम बॉयज' सिंगल्स का खिताब जीतने वाले पहले भारतीय-अमेरिकी खिलाड़ी बने।

जूनियर विंबलडन चैंपियनशिप में समीर बनर्जी ने रचा इतिहास, जीता यह बड़ा खिताब

17 वर्षीय समीर बनर्जी (Samir Banerjee) ने अपने हमवतन विक्टर लिलोव को 7-5, 6-3 से हराकर विंबलडन चैंपियनशिप में 'ग्रैंड स्लैम बॉयज' सिंगल्स का खिताब जीत लिया। ऐसा करने वाले समीर पहले भारतीय-अमेरिकी खिलाड़ी बन गए हैं। यह गेम 1 घंटा 21 मिनट तक चला।

प्रकाश अमृतराज और उनके चचेरे भाई स्टीफन अमृतराज जैसे केवल कुछ भारतीय-अमेरिकियों ने ही इस टूर्नामेंट में हिस्सा लिया और जीत हासिल की। समीर बनर्जी 'ग्रैंड स्लैम बॉयज' का सिंगल्स का खिताब हासिल करने वाले पहले खिलाड़ी बन गए हैं। इसके अलावा ग्रैंड स्लैम स्पर्धाओं में बॉयज सिंगल्स चैंपियनशिप जीतने वाले चार अन्य भारतीय रामनाथन कृष्णन, रमेश कृष्णन, लिएंडर पेस और युकी भांबरी हैं।

शुरुआती सेट में समीर ने 5-3 से बढ़त बनाई, जिसे अंततः विक्टर ने 5-5 का स्कोर बनाया। पहला सेट जीतने के लिए उन्होंने अगले दो गेम जीते। उन्होंने दूसरे सेट में काफी मशक्कत करते हुए छठे गेम में 4-2 से बढ़त बना ली।

अगले गेम में विक्टर ने वापसी की, जिससे एक और फाइट-बैक की संभावना बढ़ गई। हालांकि समीर ने आखिर में जीत हासिल कर ली।