भारत-ऑस्ट्रेलिया के संबंधों को और प्रगाढ़ बनाएगा डिजिटल गेमिंग का क्षेत्र!

महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे तेजी से बढ़ रहा मनोरंजन उद्योग है जो मुख्यधारा के ग्राहकों को अपनी ओर खूब आकर्षित करता है। कई विशेषज्ञों का भी मानना है कि भारत में गेमिंग उद्योग भविष्य का बहुत बड़ा बाजार है।

भारत-ऑस्ट्रेलिया के संबंधों को और प्रगाढ़ बनाएगा डिजिटल गेमिंग का क्षेत्र!
Photo by Giu Vicente / Unsplash

यूं तो भारत और ऑस्ट्रेलिया के संबंध काफी पुराने हैं। खेल से लेकर कारोबार तक दोनों देश जुड़े हुए हैं। लेकिन अब दोनों देशों के बीच संबंधों में एक नया मोर्चा जुड़ने जा रहा है और वह है डिजिटल गेमिंग का। पर्थ यूएसएशिया सेंटर (Perth USasia Centre) इस मसले पर भारत-ऑस्ट्रेलिया संबंधों में अगले मोर्चे के तौर पर डिजिटल गेमिंग पर विचार-विमर्श करने और इसमें रुचि रखने वाले लोगों को आमंत्रित कर रहा है। वर्चुअल माध्यम से होने वाले इसके अगले सत्र को 'बियॉन्ड दिल्ली सीरीज: डिजिटल गेमिंग एज दि नेक्स्ट फ्रंटियर इन दि ऑस्ट्रेलिया-इंडिया रिलेशनशिप' नाम दिया गया है।

बता दें कि भारत सरकार की 'ऑस्ट्रेलियाई आर्थिक रणनीति' ने भी बेंगलुरु के साथ डिजिटल गेमिंग के अवसरों को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच भागीदारी के लिए उभरता हुआ क्षेत्र बताया है। कर्नाटक की राजधानी बेंगलुरु को भारत की सिलिकन वैली भी कहा जाता है। वहीं, महाराष्ट्र की राजधानी मुंबई में दुनिया की सबसे बड़ी और सबसे तेजी से बढ़ रहा मनोरंजन उद्योग है, जो मुख्यधारा के ग्राहकों को अपनी ओर खूब आकर्षित करता है। कई विशेषज्ञों का भी मानना है कि भारत में गेमिंग उद्योग भविष्य का बहुत बड़ा बाजार है।