तो भैयाजी... इन वजहों से बढ़ रही है भारत में इंटरनेट की खपत

रिपोर्ट के अनुसार भारत में खपत होने वाले कुल ब्रॉडबैंड में 4जी सेवाओं का योगदान 99 फीसदी है। रिपोर्ट ने तीसरे पक्ष के अनुमानों को साझा किया जो अनुमान लगाता है कि साल 2026 तक 5G सेवाओं की मदद से मोबाइल सेक्टर में राजस्व 9 बिलियन डॉलर यानी 68 हजार 530 करोड़ रुपये तक बढ़ने का अनुमान है।

तो भैयाजी... इन वजहों से बढ़ रही है भारत में इंटरनेट की खपत
Photo by Yuvraj Sachdeva / Unsplash

दुनिया में सबसे कम कीमत में इंटरनेट डेटा मुहैया कराने वाले भारत में पिछले पांच वर्षों में इंटरनेट उपयोगकर्ताओं की संख्या दोगुनी हो गई है। यह संख्या मौजूदा वक्त में 76.5 करोड़ से अधिक है। इनमें 4जी डेटा का प्रयोग करने वालों की संख्या में 6.5 गुना वृद्धि हुई है।

पिछले 5 वर्षों में मोबाइल ब्रॉडबैंड उपयोगकर्ताओं में 2.2 गुना वृद्धि हुई है। Photo by Srinivas JD / Unsplash

नोकिया की वार्षिक मोबाइल ब्रॉडबैंड इंडेक्स ((MBiT) रिपोर्ट के अनुसार 4जी सेवाओं ने देश की डेटा खपत में सबसे अधिक 99 फीसदी का योगदान दिया है। यानी 99 फीसदी डेटा का प्रयोग 4जी नेटवर्क के माध्यम से किया गया है। रिपोर्ट में कहा गया है कि अगले कुछ वर्षों तक ब्रॉडबैंड ग्रोथ इंजन के रूप में 4जी उपयोगकर्ताओं के जारी रहने की ही उम्मीद है, भले ही इस साल के अंत तक भारत में 5जी उपयोग में आ जाए।