कोरोना-यूक्रेन संकट से इस देश के रियल एस्टेट बिजनेस पर पड़ी है तगड़ी मार

भारत के रियल एस्टेट सेक्टर में साल 2022 की पहली छमाही में संस्थागत निवेश में 27 फीसदी की कमी आई है। हालांकि वर्ष 2021 में निवेश में सुधार देखा गया था, जिससे 2021 की पहली छमाही में 2.63 बिलियन डॉलर का निवेश दर्ज किया गया था।

कोरोना-यूक्रेन संकट से इस देश के रियल एस्टेट बिजनेस पर पड़ी है तगड़ी मार
Photo by Maria Ziegler / Unsplash

भारत पहले से ही रियल एस्टेट से जुड़े संकट से जूझ रहा था। इसके साथ ही वैश्विक परिस्थितियों के चलते ये संकट और गहरा गया है। भारत के रियल एस्टेट सेक्टर में साल 2022 की पहली छमाही में संस्थागत निवेश में 27 फीसदी की कमी आई है। ये जानकारी जेएलएल इंडिया की स्टडी में सामने आई है।

वैश्विक दिक्कत से भारतीय अर्थव्यवस्था भी प्रभावित हुई है। लेकिन अर्थव्यवस्था की अंतर्निहित ताकत ने विकास की गति को बनाए रखने में मदद की है। Photo by Tierra Mallorca / Unsplash

वर्ष 2021 में निवेश में सुधार देखा गया था, जिससे 2021 की पहली छमाही में 2.63 बिलियन डॉलर का निवेश दर्ज किया गया था। हालांकि, कोरोना महामारी का प्रकोप का प्रकोप कुछ कम होने के बाद साल 2022 की शुरुआत में भू-राजनीतिक संकट की शुरुआत होने से माहौल में मनमाफिक सुधार नहीं हो सका।