India Life Expectancy: दो साल बढ़ गई औसत उम्र, किस राज्य का कैसा है हाल

साल 1970-75 के दौरान भारत की जन्म के समय जीवन प्रत्याशा दर 49.7 साल थी। अगले 45 वर्ष में इसमें करीब 20 साल की बढ़ोतरी हुई। उनकी औसत जीवन प्रत्याशा में दो साल का इजाफा होने में लगभग 10 साल का समय लगा। देश की राजधानी नई दिल्ली की जीवन प्रत्याशा 75.9 साल है जो कि देश में सबसे ज्यादा है।

India Life Expectancy: दो साल बढ़ गई औसत उम्र, किस राज्य का कैसा है हाल
Photo by Shashank Hudkar / Unsplash

भारत के नागरिकों के लिए एक अच्छी रिपोर्ट सामने आई है। साल 2015 से 2019 के बीच जन्म के समय देश की जीवन प्रत्याशा (Life Expectancy) 69.7 वर्ष रही। यानी भारतीयों की औसत उम्र में दो वर्ष का इजाफा हुआ है। हालांकि जीवन प्रत्याशा के वैश्विक औसत के मुकाबले भारत की स्थिति अभी भी काफी कम है जो इस अवधि के दौरान 72.6 वर्ष रही।

सैंपल रजिस्ट्रेशन सिस्टम (SRS) की ओर से जारी आंकड़ों के अनुसार सर्वाधिक शिशु मृत्यु दर (IMR) के साथ जन्म के समय जीवन प्रत्याशा और एक या पांच साल की आयु के बीच अंतर सबसे ज्यादा मध्य प्रदेश और उत्तर प्रदेश में है। उत्तर प्रदेश में शिशु मृत्यु दर 38 जबकि मध्य प्रदेश में 43 है। साल 1970-75 के दौरान भारत की जन्म के समय जीवन प्रत्याशा दर 49.7 साल थी। अगले 45 वर्ष में इसमें करीब 20 साल की बढ़ोतरी हुई। भारतीयों की औसत जीवन प्रत्याशा में दो साल का इजाफा होने में लगभग 10 साल का समय लगा है। भारत में राष्ट्रीय राजधानी नई दिल्ली की जीवन प्रत्याशा 75.9 साल है जो कि देश में सबसे ज्यादा है।

दिल्ली के बाद दूसरे स्थान पर केरल है जिसकी जीवन प्रत्याशा 75.2 वर्ष है। Photo by Alka Jha / Unsplash

दिल्ली के बाद दूसरे स्थान पर केरल है जिसकी जीवन प्रत्याशा 75.2 वर्ष है। इसके बाद केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर की 74.2, हिमाचल प्रदेश की 73.1 और पंजाब की जीवन प्रत्याशा 72.8 वर्ष है। महाराष्ट्र में यह आंकड़ा 72.7, तमिलनाडु में 72.6, पश्चिम बंगाल में 72.1, उत्तराखंड में 70.6 और आंध्र प्रदेश में 70.3 वर्ष रहा।

सबसे कम जीवन प्रत्याशा वाले राज्यों में छत्तीसगढ़ (65.3 वर्ष) सबसे ऊपर है। है। इसके बाद दूसरे स्थान पर उत्तर प्रदेश है जिसकी जीवन प्रत्याशा 65.6 वर्ष और तीसरे स्थान पर मध्यप्रदेश (67 वर्ष) है। असम की जीवन प्रत्याशा 67.5 वर्ष, राजस्थान की 69 वर्ष, बिहार की 69.2 वर्ष, झारखंड की 69.4 वर्ष और कर्नाटक की 69.5 वर्ष है।

भारत में राज्यों के शहरी और ग्रामीण इलाकों की जीवन प्रत्याशा में काफी अंतर है। हिमाचल प्रदेश की शहरी महिलाओं में जन्म के समय जीवन प्रत्याशा देश में सबसे ज्यादा 82.3 साल है। वहीं छत्तीसगढ़ में ग्रामीण पुरुषों की जीवन प्रत्याशा केवल 62.8 फीसदी है। असम के शहरी और ग्रामीण इलाकों की जीवन प्रत्याशा में करीब आठ और हिमाचल में पांच साल का अंतर है।