भारत में आधार, पैन कार्ड समेत सभी दस्तावेजों के लिए होगा अब एक कार्ड

फिलहाल भारतीयों के लिए समस्या यह है कि एक अलग उद्देश्य के लिए एक अलग तरह का पहचान पत्र उपयोग किया जाता है। ऐसे में यह कार्ड बार-बार वैरिफिकेशन करने की समस्या से छुटाकार दिलाएगा। मंत्रालय ने 27 फरवरी तक आम लोगों से इस कार्ड को लेकर प्रतिक्रियाएं मांगी हैं।

भारत में आधार, पैन कार्ड समेत सभी दस्तावेजों के लिए होगा अब एक कार्ड
Photo by Stephen Phillips - Hostreviews.co.uk / Unsplash

जल्द ही भारतीयों के पास एक डिजिटल आईडी कार्ड होगा जिससे वह आधार कार्ड, पैन कार्ड, ड्राइविंग लाइसेंस और पासपोर्ट समेत सभी दस्तावेजों को इंटरलिंक कर सकेंगे और एक्सेस भी कर पाएंगे। यानी आपको आधार कार्ड, पैन कार्ड या फिर ड्राइविंग लाइसेंस के वेरिफिकेशन के लिए अलग अलग आईडी देने की जरूरत नहीं होगी। भारत सरकार की इलेक्ट्रॉनिक्स और सूचना प्रौद्योगिकी मंत्रालय इस कार्ड को लाने में जुटी हुई है। इसे 'फेडरेटेड डिजिटल आइडेंटिटी' कहा जा रहा है।

मंत्रालय ने एक ड्राफ्ट प्रपोजल तैयार किया है जिसमें मंत्रालय ने सुझाव दिए हैं कि यह आईडी कार्ड भारतीयों को बाकी पहचानों पत्रों को नियंत्रण में रखकर सशक्त बनाएगी और उन्हें यह चुनने का विकल्प देगी कि किस उद्देश्य के लिए किसका उपयोग करना है। मंत्रालय ने 27 फरवरी तक आम लोगों से इस कार्ड को लेकर प्रतिक्रियाएं मांगी हैं और जल्द ही प्रस्ताव को सार्वजनिक करने की बात कही है।