जयश्री को इसलिए मिला Forbes की शीर्ष सेल्फ मेड महिला अरबपतियों में स्थान

साल 2022 में उल्लाल की नेट वर्थ 2.1 अरब डॉलर (लगभग 166 अरब 23 करोड़ 49 लाख 50 हजार रुपये) पहुंच गई और इसी के साथ प्रतिष्ठित 'फोर्ब्स' (FORBES) पत्रिका ने उन्हें अमेरिका की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिलाओं में शामिल किया है। इस लिस्ट में उल्लाल के अलावा कई अन्य भारतीय-अमेरिकी महिलाओं ने भी जगह बनाई है।

जयश्री को इसलिए मिला Forbes की शीर्ष सेल्फ मेड महिला अरबपतियों में स्थान

रूढ़ियों को तोड़ते हुए शक्तिशाली पदों पर पहुंचने वाली महिलाओं की संख्या में हाल के वर्षों में खासा इजाफा देखने को मिला है। भारतीय जड़ों वाली महिलाएं भी इस मामले में पीछे नहीं हैं और वह बड़ी सफलताएं हासिल कर रही हैं। ऐसी महिलाओं की फेहरिस्त में जयश्री वी उल्लाल का नाम भी शामिल है। उल्लाल कंप्यूटर नेटवर्किंग फर्म 'अरिस्टा नेटवर्क्स' (Arista Networks) की सीईओ हैं।

जून 2014 में एक ऐतिहासिक और सफल आईपीओ (IPO) के जरिए इसे मल्टीबिलियन डॉलर कंपनी बनाने का काम उल्लाल ने ही किया था। 

उल्लाल साल 2018 से इस कंपनी की कमान संभाल रही हैं। जून 2014 में  एक ऐतिहासिक और सफल आईपीओ (IPO) के जरिए इसे मल्टीबिलियन डॉलर कंपनी बनाने का काम उल्लाल ने ही किया था। वह तब इस कंपनी से जुड़ी थीं जब इसका कोई रेवेन्यू नहीं था और इसके कर्मचारियों की संख्या 50 से भी कम थी। इसके अलावा वह 'स्नोफ्लेक' (Snowflake) के बोर्ड ऑफ डायरेक्टर्स में भी शामिल हैं। यह एक क्लाउड कंप्यूटिंग कंपनी है जो सितंबर 2020 में सार्वजनिक हुई थी।

साल 2022 में उल्लाल की नेट वर्थ 2.1 अरब डॉलर (लगभग 166 अरब 23 करोड़ 49 लाख 50 हजार रुपये) पहुंच गई और इसी के साथ प्रतिष्ठित 'फोर्ब्स' (FORBES) पत्रिका ने उन्हें अमेरिका की सबसे अमीर सेल्फ मेड महिलाओं में शामिल किया है। उनकी वर्तमान नेटवर्थ 1.7 अरब डॉलर (लगभग 134 अरब 57 करोड़ 11 लाख 50 हजार रुपये) है। पत्रिका के अनुसार उल्लाल के पास अरिस्टा के लगभग पांच फीसदी शेयर हैं।

उल्लाल को कई प्रतिष्ठित अवार्ड्स से भी सम्मानित किया जा चुका है। साल 2015 में उन्हें E&Y का 'आंत्रेप्रेन्योर ऑफ द ईयर' अवार्ड प्रदान किया गया था। इसके अलावा साल 2018 में उन्हें बैरन के वर्ल्ड्स बेस्ट सीईओ अवार्ड से सम्मानित किया गया था और साल 2019 में उल्लाल को 'फॉर्च्यून' पत्रिका की की 'टॉप 20 बिजनेस पर्सन्स' की लिस्ट में जगह दी गई थी।

लंदन में जन्मीं और नई दिल्ली में पली बढ़ीं उल्लाल ने सैन फ्रांसिस्को स्टेट यूनिवर्सिटी से इलेक्ट्रिकल इंजीनियरिंग और सैंटा क्लारा यूनिवर्सिटी से उन्होंने इंजीनियरिंग मैनेजमेंट की पढ़ाई की है। फोर्ब्स की इस लिस्ट में उल्लाल के अलावा कई अन्य भारतीय-अमेरिकी महिलाओं ने भी जगह बनाई है। इनमें सिंटेल (Syntel) की सह संस्थापक नीरजा सेठी, कॉन्फ्लुएंट (Confluent) की सह संस्थापक और पूर्व सीटीओ नेहा नारखेड़े, पेप्सिको (PepsiCo) की पूर्व सीईओ इंद्रा नूयी और गिंकगो बायोवर्क्स (Gingko Bioworks) की सह संस्थापक रेशमा शेट्टी का नाम शामिल है। वहीं एबीसी सप्लाई (ABC Supply) की सह संस्थापक और चेयरमैन डाएन हेंड्रिक्स लगातार पांचवें साल इस लिस्ट में पहले स्थान पर रही हैं।