UAE के भारतीय और विदेशी छात्रों के लिए अच्छी खबर, पढ़िए और जानिए

अबू धाबी में भारतीय दूतावास ने कहा कि यह भारतीय छात्रों और विदेशी नागरिकों के लिए वरदान की तरह है। अभी आवेदन करें। र्तमान में इस योजना के तहत लगभग 3900 स्नातक और 1,300 स्नातकोत्तर सीटों की पेशकश की जाती है।

UAE के भारतीय और विदेशी छात्रों के लिए अच्छी खबर, पढ़िए और जानिए
Photo by Good Free Photos / Unsplash

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) में रह रहे भारतीय छात्र और विदेशी नागरिक भी अब भारत के प्रतिष्ठित शिक्षण संस्थानों में पढ़ाई के लिए आवेदन कर सकेंगे। इनके लिए 15 फीसदी सीटें रिजर्व कर दी गई हैं। भारत के शिक्षा मंत्रालय ने कहा है कि 2022-23 के लिए डायरेक्ट एडमिशन ऑफ स्टूडेंट्स अब्रॉड (DASA) योजना के तहत अंडरग्रेजुएट एडमिशन जॉइंट एंट्रेंस एग्जामिनेशन मेन (JEE-Main) में मिले अंकों के आधार पर होंगे। इस परीक्षा का आयोजन नेशनल टेस्टिंग एजेंसी (NTA) करवाती है।

देश के नेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (NITs), इंटरनेशनल इंस्टीट्यूट ऑफ इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी (IIITs) और केंद्र की ओर से वित्त-पोषित टेक्निकल संस्थानों में मौजूद कुल सीटों की लगभग 15 फीसदी इस श्रेणी के छात्रों के लिए निर्धारित की गई हैं। इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलॉजी (IITs) को इससे बाहर रखा गया है।

योजना विभिन्न विषयों में आनुपातिक रूप से उपलब्ध है। वर्तमान में इस योजना के तहत लगभग 3900 स्नातक और 1,300 स्नातकोत्तर सीटों की पेशकश की जाती है। इस योजना के तहत भारत समेत किसी भी देश में पढ़ाई कर रहे विदेशी नागरिकों को, भारतीय मूल के लोगों की संतानों को, भारत के ओवरसीज नागरिकों को और एनआरआई को भारत में एनआईटी और केंद्र सरकार की ओर से वित्त-पोषित अन्य टेक्निकल संस्थानों में तकनीकी पढ़ाई करने का अवसर प्रदान करती है।

इस मसले पर अबू धाबी में भारतीय दूतावास ने कहा कि यह भारतीय छात्रों और विदेशी नागरिकों के लिए वरदान की तरह है। अभी आवेदन करें। इस योजना के तहत अंडर ग्रेजुएट प्रोग्राम के लिए रजिस्ट्रेशन फीस 300 डॉलर जबकि ट्यूशन फीस 8000 डॉलर है। सार्क देशों के नागरिक (भारत के अलावा) अगर क्वालीफाइंग परीक्षा पास कर लेते हैं तो ट्यूशन फीस में उन्हें 50 फीसदी छूट मिलती है।