सपने दिखाकर भारतीय महिलाओं को अमेरिका ले गए, सेक्स रैकेट में झोंक दिया, अब मिलेगी सजा

किशन को शिकागो स्थित सेक्स-ट्रैफिकिंग नेटवर्क चलाने के लिए दोषी ठहराया गया है। किशन ने दक्षिण भारत में तेलुगु भाषा के फिल्म उद्योग में काम किया है। वह अभिनेत्रियों को खोजे जाने के वादे के साथ शिकागो ले आता था। लेकिन उनके साथ वेश्याओं की तरह व्यवहार किया जाता था।

सपने दिखाकर भारतीय महिलाओं को अमेरिका ले गए, सेक्स रैकेट में झोंक दिया, अब मिलेगी सजा

अमेरिकी अदालत ने फिल्म निर्माता 42 साल के किशन मोदुगुमुडी को फरवरी 2020 में यौन तस्करी के मामले में दोषी ठहराया था। अदालत के रिकॉर्ड से पता चलता है कि उनकी पत्नी 35 साल की चंद्रा को भी पति के साथ मिलकर यौन तस्करी रैकेट चलाने का दोषी पाया गया। संघीय अभियोजक ने फिल्म निर्माता के लिए 34 साल तक की जेल की मांग की है। दोनों दोषियों को 24 जून को सजा सुनाई जाएगी।

शिकागो, डलास, न्यू जर्सी, वॉशिंगटन और अन्य जगहों पर होटल के कमरों में यौन संबंध के लिए लड़कियों को मजबूर किया जाता था। 

किशन को शिकागो स्थित सेक्स-ट्रैफिकिंग नेटवर्क चलाने के लिए दोषी ठहराया गया है। शिकागो ट्रिब्यून ने अदालत के दस्तावेजों का हवाला देते हुए बताया कि मामले में अमेरिका में भारतीय फिल्म अभिनेत्रियों को कथित तौर पर वेश्यावृत्ति के लिए मजबूर किया गया। शारीरिक रूप से दुर्व्यवहार किया गया और सार्वजनिक रूप से शर्मिंदा होने की धमकी दी गई थी। मामले में अमेरिकी जिला जज वर्जीनिया केंडल ने एक बंद कमरे में सुनवाई की, जहां उन्होंने पीड़ितों की दलीलों को सीधे सुना, जिसमें एक अभिनेत्री भी शामिल थीं। पीड़िता की पहचान छुपाई गई है।

पीड़ित महिला ने जज को बताया कि हम उनके खिलाफ बात कर रहे हैं। हम आवाज उठा रहे हैं। और हम बता रहे हैं कि दोषी ने बहुत गलत किया है। उन्हें अपनी मृत्यु तक पछताना पड़ेगा। किशन के लिए 27 से 34 साल की सजा की मांग करते हुए अभियोजकों ने कहा कि वह एक शिकारी था। वह ऐसी युवा निर्दोष भारतीय महिलाओं की आशाओं और सपनों का शिकार करता था, जो संयुक्त राज्य में आने और अपने करियर को आगे बढ़ाने के सपने देखती थीं।

किशन ने दक्षिण भारत में तेलुगु भाषा के फिल्म उद्योग में काम किया है। वह अभिनेत्रियों को खोजे जाने के वादे के साथ शिकागो ले आता था। लेकिन उनके साथ वेश्याओं की तरह व्यवहार किया जाता था। उन्हें शिकागो में एक दो मंजिला अपार्टमेंट में रहने के लिए मजबूर किया जाता था। अभियोजकों के अनुसार दंपति ने प्रत्येक यौन संबंध के लिए ग्राहकों से 3,000 डॉलर की रकम ली। शिकागो, डलास, न्यू जर्सी, वॉशिंगटन और अन्य जगहों पर होटल के कमरों में यौन संबंध के लिए लड़कियों को मजबूर किया जाता था।

आरोपियों ने पीड़ितों के शारीरिक और यौन उत्पीड़न के साथ-साथ उनके नाम का खुलासा करने की धमकी भी दी। किशन ने कुछ पीड़ितों की अश्लील तस्वीरें लीं और उन्हें ब्लैकमेल करने के लिए इस्तेमाल किया। अभियोजकों के अनुसार जब संघीय एजेंटों ने फरवरी 2018 में वेस्ट बेल्डेन एवेन्यू में किशन के अपार्टमेंट की तलाशी ली तो उन्हें प्रत्येक लड़की द्वारा किए गए यौन कृत्यों की विस्तृत जानकारी मिली।