शादी की फर्जी प्रोफाइल बनाकर ठगती थी भारतीय महिला, अब जेल में

यह महिला लगभग 15 साल पहले 2006 और 2007 में इसी तरह के अपराधों के लिए जेल की सजा काट चुकी है। उस वक्त भी महिला ने बहुत बड़ी रकम ठगी थी। महिला ने बड़ी ही कारीगरी और शातिराना अंदाज में अपने काम को अंजाम दिया और अपनी भतीजी की फोटो के जरिए ठगी का यह सारा खेल किया।

शादी की फर्जी  प्रोफाइल बनाकर ठगती थी भारतीय महिला, अब जेल में

सिंगापुर की एक अदालत ने भारतीय मूल की 51 वर्षीय महिला को मैचमेकिंग वेबसाइट पर एक युवा महिला का वेश बनाकर भारतीय व्यक्ति और उसके पिता से 5,000 सिंगापुरी डॉलर (2,80,000 रुपये) से अधिक रकम ठगने के आरोप में सात महीने जेल की सजा सुनाई है। 51 वर्षीय मलिहा रामू नाम की इस महिला ने तमिल मैट्रिमोनी वेबसाइट पर कीर्तना नाम की 25 वर्षीय एकल महिला के रूप में एक नकली विवाह प्रोफाइल पोस्ट की थी।

अदालत में यह बात सामने आई है कि नवंबर 2018 में पीड़ित के पिता गोविंदांधनशेखरन मुरलीकृष्ण ने अपने 29 वर्षीय बेटे के लिए एक साथी खोजने के लिए मैचमेकिंग वेबसाइट पर एक खाते के लिए साइन अप किया था। 

महिला को धोखाधड़ी के दो आरोपों के लिए दोषी ठहराया है जबकि अन्य तीन समान मामलों में जांच की जा रही है। बता दें कि यह महिला लगभग 15 साल पहले 2006 और 2007 में इसी तरह के अपराधों के लिए जेल की सजा काट चुकी है। उस वक्त भी महिला ने बहुत बड़ी रकम ठगी थी। एक मामले में इस महिला ने भारत और ऑस्ट्रेलिया में पीड़ितों से दोस्ती की और उनसे शादी करने का वादा किया था इसके बदले उन्हें 2,25,000 सिंगापुरी डॉलर (लगभग 1 करोड़ 26 लाख रुपये) का धोखा दिया था।

अदालत में यह बात सामने आई है कि नवंबर 2018 में पीड़ित के पिता गोविंदांधनशेखरन मुरलीकृष्ण ने अपने 29 वर्षीय बेटे के लिए एक साथी खोजने के लिए मैचमेकिंग वेबसाइट पर एक खाते के लिए साइन अप किया था। जब पीड़ित के पिता ने वेबसाइट के माध्यम से महिला से संपर्क किया तो उसने उसे अपने घर के नंबर पर कॉल करने और अपनी मां से बात करने के लिए कहा। हालांकि 2002 में मलीहा की मां का देहांत हो गया था और वह अकेली रहती थी। उसने खुद को कीर्तन की मां के रूप में प्रस्तुत किया और कीर्तन से बात करने के लिए गोविंदांधनशेखरन को अपनी स्वीकृति दी।

ठगी के लिए महिला ने अपनी 27 वर्षीय भतीजी की तस्वीरों का इस्तेमाल किया जो सिंगापुर सशस्त्र बल के लिए काम करती है। महिला ने तस्वीरों का इस्तेमाल यह यह विश्वास दिलाने के लिए किया कि कीर्तना ऐसी दिखती है। हालांकि वह वीडियो कॉल करवाने से परहेज करती थी और हर बार सेना के अड्डे पर कैमरा फोन का उपयोग न करने की अनुमति का बहाना बनाती थी। कीर्तना के रूप में प्रस्तुत करते हुए मलिहा ने हमेशा गोविंदांधनशेखरन से व्हाट्सएप टेक्स्ट मैसेज और कॉल के माध्यम से बात की।

मलिहा हमेशा यह विश्वास दिलाती थी कि कीर्तना कांट्रेक्ट खत्म होने के बाद उससे शादी करेगी जब वह ऑस्ट्रेलिया से लौटेगी। लेकिन जब वह तारीख आई तो उसने आगे झूठ बोला कि उसका अनुबंध तीन और महीनों के लिए बढ़ा दिया गया है। उसने यह भी कहा कि उसकी मां बीमार थी और अपने भाई के साथ संयुक्त राज्य में थी इसलिए वह उनके साथ उनकी शादी पर चर्चा करने में असमर्थ थी।

इस सिलसिले के साथ गोविंदांधनशेखरन ने महिला से पैसे मांगे। महिला ने दावा किया उसे अपने सामाजिक कार्यों के लिए नकदी की आवश्यकता है। दिसंबर 2018 से अक्टूबर 2019 तक उसने चार मौकों पर 4,750 सिंगापुरी डॉलर (2 लाख 66 हजार रुपये) ट्रांसफर करवाए। इसके बाद उसके पिता से भी 1,000 सिंगापुरी डॉलर (56,000 रुपये) भी लिए।