सिंगापुर में भारतीय मूल की इस नर्स को इसलिए भुगतने पड़ेंगे सवा दो लाख रुपये

आरोपी 59 वर्षीय लता नारायणन जिस बुजुर्ग की देखभाल करती थी, उसका पहले एटीएम कार्ड चुराया और कार्ड से 1,000 सिंगापुरी डॉलर (लगभग 56 हजार रुपये) निकाल लिए। इसके अलावा एटीएम की मदद से सुपरमार्केट से खाने पीने और अन्य जरूरी सामान भी खरीद डाले।

सिंगापुर में भारतीय मूल की इस नर्स को इसलिए भुगतने पड़ेंगे सवा दो लाख रुपये

सिंगापुर में एक बुजुर्ग को धोखा देने और उनके सामान की चोरी करने के जुर्म में एक भारतीय मूल की नर्सिंग होम कर्मचारी पर 4000 सिंगापुरी डॉलर यानी सवा दो लाख रुपये का जुर्माना लगाया गया है। आरोपी 59 वर्षीय लता नारायणन जिस बुजुर्ग की देखभाल करती थी, उसका पहले एटीएम कार्ड चुराया और कार्ड से 1,000 सिंगापुरी डॉलर (लगभग 56 हजार रुपये) निकाल लिए।

आरोपी लता ने इसके अलावा एटीएम की मदद से सुपरमार्केट से खाने पीने और अन्य जरूरी सामान भी खरीदे। अदालत में बताया गया कि साल 2019 में लता को वुडलैंड्स केयर होम के जरिए एक 65 वर्षीय व्यक्ति की देखभाल के लिए नियुक्त किया गया था, जिसकी जनवरी 2021 में मौत हो गई।

2019 में वह व्यक्ति अपने एटीएम कार्ड का पिन नंबर भूल गया था। लता उस वक्त नियमित रूप से उस शख्स के साथ अस्पताल का दौरा करती थी। पिन भूलने की वजह से वह शख्स एक दिन बैंक गया और वहां से नया पिन नंबर बनवाया। उस व्यक्ति ने लता की उपस्थिति में अपना नया पिन नंबर प्राप्त किया और अपना एटीएम कार्ड अपने फोन कवर में रख दिया। फिर उस शख्स ने लता को मोबाइल सुरक्षित रखने के लिए सौंप दिया।

ऐसे में मौका पाकर 21 नवंबर 2019 को लता ने 1,000 सिंगापुरी डॉलर  (लगभग 56 हजार रुपये) उस शख्स के एटीएम से नकद निकाल लिए। इसके बाद उसने 25 नवंबर को वुडलैंड्स में एक सुपरमार्केट में 73 सिंगापुरी डॉलर (4200 रुपये) खर्च करते हुए खाने पीने व अन्य जरूरी सामान खरीदा। यह अपराध तब सामने आया जब बुजुर्ग व्यक्ति ने 27 नवंबर को पुलिस को बताया कि उसने अपना एटीएम कार्ड खो दिया है और उसके बैंक खाते से अनधिकृत निकासी की गई है।

बता दें कि इस आरोप के अलावा लता पर ऐसे ही दो अन्य आरोप भी लगाए गए थे। अदालत के दस्तावेजों के अनुसार साल 2017 में संपत्ति से संबंधित चोरी के लिए उस पर 600 सिंगापुरी डॉलर (लगभग 32 हजार रुपये) का जुर्माना लगाया गया था।