Skip to content

5 मिलियन डॉलर की धोखाधड़ी के आरोप में अमेरिकी-भारतीय बॉर्डर से गिरफ्तार

रेड्डी ने व्यक्तिगत खर्चों के भुगतान के लिए इस धन का उपयोग किया। उसने लॉस एंजिल्स में 1.2 मिलियन डॉलर का निवेश करके एक प्रॉपर्टी खरीदी, मालिबू में 597,585 डॉलर की संपत्ति की खरीदी और एक EB-5 आप्रवासी निवेशक वीजा कार्यक्रम में 97,000 डॉलर का निवेश किया।

अमेरिका के ऑरेंज काउंटी में रहने वाले एक भारतीय मूल के शख्स को तीन फर्जी कंपनियों के जरिए कोरोना कोष से 5 मिलियन डॉलर यानी लगभग 38 करोड़ रुपये का ऋण लेने की धोखाधड़ी के मामलें में गिरफ्तार किया गया है। 35 वर्षीय रेड्डी राघव बुडामाला पिछले सप्ताह बुधवार को अपने घर से भाग गए थे जब उनकी घर की तलाशी करने के लिए अधिकारियों की टीम पहुंची। इसके बाद राघव को अमेरिकी-मेक्सिको बॉर्डर से शुक्रवार को गिरफ्तार किया गया।

35 वर्षीय रेड्डी राघव बुडामाला को संघीय कानून प्रवर्तन ने गिरफ्तार किया है। उन्हें लॉस एंजिल्स में संयुक्त राज्य जिला न्यायालय में ​अपनी प्रारंभिक अदालत में पेश किया गया। उस सुनवाई में एक संयुक्त राज्य के मजिस्ट्रेट न्यायाधीश ने रेड्डी को बिना बांड के आयोजित करने का आदेश दिया क्योंकि रेड्डी ने भागने की कोशिश की थी। अगर रेड्डी दोषी पाए जाते हैं तो उन्हें अधिकतम 20 साल की वैधानिक सजा का सामना करना पड़ेगा।  

This post is for paying subscribers only

Subscribe

Already have an account? Log in

Latest