फर्जी नाम रखकर महिला का किया यौन शोषण, भारतीय डॉक्टर को जेल

पीड़िता ने अदालत में बताया कि वह एक स्टूडेंट नर्स थी और कैसे उसका यौन उत्पीड़न किया गया और उसके शरीर पर घाव दिए गए। अदालत में महिला ने मुकदमे से जुड़े बकायदा सबूत भी दिए। गिल ने दावा किया कि सेक्स सहमति से हुआ था। लेकिन जूरी ने उसे यौन अपराध करने का दोषी ठहराया।

फर्जी नाम रखकर महिला का किया यौन शोषण, भारतीय डॉक्टर को जेल

यूके में भारतीय मूल के एक डॉक्टर को तीन साल से अधिक समय पहले के यौन शोषण के गंभीर मामले में दोषी पाए जाने के बाद स्कॉटिश अदालत ने चार साल कैद की सजा सुनाई है। 39 वर्षीय मनेश गिल को पिछले महीने एडिनबर्ग में उच्च न्यायालय में दोषी ठहराया गया था और उसी अदालत में स्कॉटिश पुलिस ने मनेश गिल का महिला के प्रति बर्ताव भयानक व्यवहार के रूप में वर्णित किया था।

पब्लिक प्रोटेक्शन यूनिट ऑफ पुलिस स्कॉटलैंड के डिटेक्टिव इंस्पेक्टर फोर्ब्स विल्सन ने कहा कि गिल को अब अपने भयानक व्यवहार के नतीजे भुगतने होंगे।

अदालत में बताया गया कि कैसे विवाहित सामान्य चिकित्सक ने ऑनलाइन डेटिंग ऐप टिंडर पर 'माइक' नाम रखकर खुद को प्रस्तुत किया हुआ था और दिसंबर 2018 में स्टर्लिंग के एक होटल में पीड़िता से मिलने की व्यवस्था की। पब्लिक प्रोटेक्शन यूनिट ऑफ पुलिस स्कॉटलैंड के डिटेक्टिव इंस्पेक्टर फोर्ब्स विल्सन ने कहा कि गिल को अब अपने भयानक व्यवहार के नतीजे भुगतने होंगे। पीड़िता ने आगे आकर अपनी कहानी सुनाने में जबरदस्त बहादुरी दिखाई है और मैं जांच के दौरान उसकी मदद के लिए उसका शुक्रिया अदा करना चाहता हूं।

उन्होंने कहा कि हम यौन शोषण से निपटने के लिए प्रतिबद्ध हैं। हमारे पास विशेष रूप से प्रशिक्षित अधिकारी हैं और पीड़ितों को सहायता प्रदान करने के लिए हम सहयोगियों और भागीदारों के साथ काम करते हैं। मैं हर एक पीड़िता को किसी भी रूप में यौन शोषण की रिपोर्ट करने के लिए प्रोत्साहित करता रहूंगा और उन सभी की रिपोर्टों की पूरी जांच करते हुए कटघरे में लाकर खड़ा करूंगा।

पीड़िता ने अदालत में बताया कि वह एक स्टूडेंट नर्स थी और कैसे उसका यौन उत्पीड़न किया गया और उसके शरीर पर घाव दिए गए। अदालत में महिला ने मुकदमे से जुड़े बकायदा सबूत भी दिए। वहीं एडिनबर्ग में रहने वाले तीन बच्चों के पिता गिल ने दावा किया कि सेक्स सहमति से हुआ था। हालांकि जूरी ने सभी दलीलों को सुनने के बाद गिल को यौन अपराध करने का दोषी ठहराया। इसके अलावा जूरी ने गिल के आचरण की निगरानी के लिए उसे यौन अपराधियों के रजिस्टर में भी जोड़ने का आदेश दिया है।