सिंगापुर: हाउसिंग प्रोजेक्ट में हादसा, भारतीय श्रमिक की फोर्कलिफ्ट में दबकर मौत

सिंगापुर के श्रमशक्ति मंत्रालय ने बताया कि यह हादसा सरकारी आवासीय एवं विकास बोर्ड (एचडीबी) की एक निर्माणाधीन आवासीय परियोजना में गुरुवार को सुबह करीब 10 बजे हुआ। एचडीबी के प्रवक्ता ने कहा कि टीमबिल्ड के साथ मिलकर इस घटना की जांच में करेगा। एचडीबी के लिए सुरक्षा सर्वोपरि है।

सिंगापुर: हाउसिंग प्रोजेक्ट में हादसा, भारतीय श्रमिक की फोर्कलिफ्ट में दबकर मौत

सिंगापुर में एक निर्माणाधीन आवासीय परियोजना में सामान उठाने वाले वाहन (फोर्कलिफ्ट) की चपेट में आ जाने से 35 वर्षीय भारतीय श्रमिक की मौत हो गई। ‘द स्ट्रेट्स टाइम्स’ की खबर के मुताबिक हादसा उस वक्त हुआ, जब भारतीय कर्मचारी फोर्कलिफ्ट के पीछे खड़ा होकर एक बीम में बिजली का तार बांध रहा था, उसी समय फोर्कलिफ्ट अचानक पीछे की ओर चलने लगी। इसकी वजह से वह फोर्कलिफ्ट और बीम के बीच में दब गया।

Oslo Barcode Architecture Shooting
भारतीय मजदूर मुख्य ठेकेदार टीमबिल्ड इंजीनियरिंग एंड कंसट्रक्शन में नौकरी करता था। Photo by Uwe Hensel / Unsplash

सिंगापुर के श्रमशक्ति मंत्रालय ने बताया कि यह हादसा सरकारी आवासीय एवं विकास बोर्ड (एचडीबी) की एक निर्माणाधीन आवासीय परियोजना में गुरुवार को सुबह करीब 10 बजे हुआ। कर्मचारी को बेहोशी की हालत में उसे अस्पताल में भर्ती कराया गया था, जहां बाद में उसे मृत घोषित कर दिया गया।

भारतीय मजदूर मुख्य ठेकेदार टीमबिल्ड इंजीनियरिंग एंड कंसट्रक्शन में नौकरी करता था। एचडीबी के प्रवक्ता ने कहा कि टीमबिल्ड के साथ मिलकर इस घटना की जांच में करेगा। एचडीबी के लिए सुरक्षा सर्वोपरि है। हम मृतक के परिवार के प्रति संवेदनाएं व्यक्त करते हैं और ठेकेदार के साथ मिलकर उनकी सहायता करेंगे।

इससे पहले जून में सिंगापुर के  मंडाई क्वेरी रोड' 32 वर्षीय भारतीय श्रमिक की एक निर्माण स्थल पर क्रेन के दो हिस्सों के बीच दबकर मौत हो गई थी। ह्वा यांग इंजीनियरिंग कंपनी में काम करने वाला वह कर्मचारी मोबाइल क्रेन के चेसिस के नीचे एक टूलबॉक्स से कुछ समान निकाल रहा था, तभी क्रेन मुड़ गई। और उसकी छाती क्रेन के दो हिस्सों के बीच दब गई। चैनल 'न्यूज एशिया' ने तब बताया था कि  सिंगापुर में कार्यस्थल पर हुई मौत का 27वां मामला है। वर्ष 2021 में कार्यस्थल पर कुल 37 लोगों की मौत हुई थी। अकेले अप्रैल में 10 लोगों की मौत हुई थी।