भारत ने इसलिए कहा कि श्रीलंका में सेना भेजने का हमारा कोई प्लान नहीं है

राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे और प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे के इस्तीफे के लिए सहमत होने के बावजूद प्रदर्शनकारियों ने श्रीलंका के राष्ट्रपति आवास पर कब्जा किया हुआ है। विदेश मंत्री के प्रवक्ता अरिंदम बागची ने एक बयान में कहा कि हम श्रीलंका में हाल के घटनाक्रमों पर बारीकी से नजर बनाए हुए है

भारत ने इसलिए कहा कि श्रीलंका में सेना भेजने का हमारा कोई प्लान नहीं है

श्रीलंका में राष्ट्रपति गोटाबाया राजपक्षे के खिलाफ हो रहे प्रदर्शन के बीच श्रीलंका में भारतीय उच्चायोग ने सट्टा बाजार की उन खबरों को स्पष्ट रूप से खारिज कर दिया है जिसमें कहा जा रहा था कि भारत सरकार श्रीलंका में अपने सैनिकों को भेज सकती है।

भारतीय उच्चायोग ने एक आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा कि उच्चायोग मीडिया और सोशल मीडिया के वर्गों में भारत द्वारा श्रीलंका में अपनी सेना भेजने के बारे में सट्टा रिपोर्टों का स्पष्ट रूप से खंडन करना चाहेगा। ये रिपोर्ट और इस तरह के विचार भी भारत सरकार की स्थिति के अनुरूप नहीं हैं।