पीड़ित भारतीय छात्र के साथ भेदभाव क्यों, सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

यह घटना 11 मई को टेक्सास के कॉपेल मिडिल स्कूल नॉर्थ में हुई थी। भारतीय-अमेरिकी छात्र की पहचान शान प्रीतमणि के रूप में हुई है। शान अपनी सीट पर बैठा हुआ था जब अज्ञात छात्र ने उसे कंधे से पकड़कर सीट से हटाने की कोशिश की।

पीड़ित भारतीय छात्र के साथ भेदभाव क्यों, सोशल मीडिया पर फूटा गुस्सा

अमेरिका में टेक्सास के एक स्कूल में एक भारतीय मूल के छात्र के उत्पीड़न का बीते दिनों वायरल हुए एक वीडियो ने बड़ी बहस भी खड़ी कर दी है। दरअसल घटना में पीड़ित छात्र को स्कूल प्रशासन ने तीन दिन के लिए निलंबित कर दिया है। जबकि उत्पीड़न करने वाले श्वेत छात्र को केवल एक दिन के लिए निलंबित किया गया है।

साथी छात्रों की ओर से रिकॉर्ड और शेयर किए गए वीडियो को लेकर सोशल मीडिया पर लोगों के बीच खासा गुस्सा देखने को मिल रहा है। यूजर्स सवाल कर रहे हैं कि पीड़ित छात्र को तीन दिन के लिए और उत्पीड़न करने वाले छात्र को केवल एक दिन के लिए निलंबित क्यों किया गया है।

यह घटना 11 मई को टेक्सास के कॉपेल मिडिल स्कूल नॉर्थ में हुई थी। यहां के छात्रों द्वारा रिकॉर्ड और शेयर किए गए इस वीडियो में दो छात्र मौखिक लड़ाई के बाद आपस में भिड़ते हुए दिखाई देते हैं। वीडियो में एक छात्र को एक भारतीय-अमेरिकी छात्र की ओर बढ़ते हुए देखा जा सकता है।

भारतीय-अमेरिकी छात्र की पहचान शान प्रीतमणि के रूप में हुई है। शान अपनी सीट पर बैठा हुआ था जब अज्ञात छात्र ने उससे सीट छोड़ने के लिए लिए कहा। शान ने इससे इनकार किया तो इसके बाद वह छात्र उसे कंधे से पकड़कर सीट से हटाने की कोशिश करता हुआ दिखाई देता है। जब शान इसका विरोध करता है तो छात्र उसे उसका गला दबाने लगता है।

इस पर शान दूसरे छात्र का हाथ पकड़कर उसे दूसरी ओर धक्का दे देता है। इस घटना और इसके बाद स्कूल प्रशासन के निर्णय को लेकर शान की मां सोनिका कुकरेजा ने एक ऑनलाइन पिटिशन शुरू की है। इस पिटिशन पर अभी तक एक लाख से अधिक लोग हस्ताक्षर कर चुके हैं।

सोनिका कुकरेजा ने इस वीडियो को लेकर कहा कि यह बहुत डरावना था। मैं तीन दिन तक ठीक से सो नहीं पाई। मुझे लग रहा था कि कोई मेरा गला दबा रहा है। इस वीडियो को देखते हुए मैं कई बार रो तक पड़ी। उन्होंने कहा कि मैं हमारे बच्चों की सुरक्षा के लिए बहुत चिंतित हूं। सभी बच्चों के साथ समान व्यवहार होना चाहिए।