भारतीय मूल के नवोंकार सिंह का ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर जनरल करेंगे सम्मान

अपनी जान की परवाह न करते हुए वह तुरंत वह अपनी गाड़ी की ड्राइविंग सीट पर पहुंच गए। ऐसी स्थिति में भी वह अपनी गाड़ी को ईंधन टैंक से लगभग 20 मीटर दूर लेकर चले गए। अगर वो हिम्मत नहीं दिखाते तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था और कई लोगों की जानें जा सकती थीं।

भारतीय मूल के नवोंकार सिंह का ऑस्ट्रेलिया के गवर्नर जनरल करेंगे सम्मान

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में रहने वाले भारतीय मूल के ट्रक चालक नवोंकर सिंह को उनके साहस और सूझबूझ के लिए ऑस्ट्रेलिया के राष्ट्रमंडल गवर्नर जनरल डेविड हर्ले प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित करेंगे। बहादुरी और लोगों की जान बचाने के लिए यह ऑस्ट्रेलिया का चौथा सर्वोच्च सम्मान है। यह सम्मान उन लोगों को दिया जाता है जो लोग निस्वार्थ भाव से दूसरों के जीवन या संपत्ति की रक्षा के लिए खुद के जीवन को खतरे में डालते हैं। इसके लिए ऑस्ट्रेलिया की स्वतंत्र परिषद गवर्नर जनरल को इसकी सिफारिश करती है। नवोंकार साल 2006 में भारत से ऑस्ट्रेलिया आए थे। उनके दो बच्चे हैं। और अपनी इस बहादुरी का श्रेय वह अपनी पत्नी को देते हैं।

उनका ट्रक जलकर राख हो गया था। 

जिस घटना के लिए नवोंकार को यह सम्मान मिला है वह करीब दो साल पहले की है। 6 दिसंबर 2019 को न्यू साउथ वेल्स के मैकडॉगल्स हिल में एक सर्विस स्टेशन पर नवोंकर सिंह अपने सेमी-ट्रेलर में तेल भरने के लिए गए थे। इस दौरान अपने केबिन से बाहर निकलने पर उन्होंने देखा कि वाहन के नीचे से धुआं और आग की लपटें निकल रही हैं। उनका केबिन धुएं से भर गया था।