17 की उम्र में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे आलोक ने कामयाबी का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया

सायरा ग्राहकों के लिए डिजिटल सेवा प्रदान करने वाली कंपनी है। यह कंपनी डिजिटल और वॉयर चैनल के माध्यम से ग्राहकों के जोखिम को कम करती है। इसके साथ ही ग्राहकों के सामने आने वाली समस्याओं का निदान करती है।

17 की उम्र में ऑस्ट्रेलिया पहुंचे आलोक ने कामयाबी का रिकॉर्ड भी तोड़ दिया

भारतीय मूल के आलोक कुलकर्णी महज 17 साल की उम्र में ऑस्ट्रेलिया गए थे। आज उन्होंने अपनी मेहनत और प्रतिभा के दम पर कामयाबी का झंडा बुलंद किया है। आलोक ने मेलबर्न टेक कंपनी सायरा की स्थापना की। उन्होंने अपनी कंपनी के लिए 27 अरब रुपये का निवेश जुटाया है। यह ऑस्ट्रेलिया के इतिहास में किसी कंपनी की तरफ से जुटाई गई सबसे बड़ी पूंजी है।

आलोक ने ऑस्ट्रेलिया स्थित मेलबर्न की मोनाश यूनिवर्सिटी से वर्ष 1994 में इलेक्ट्रिकल एंड कंप्यूटर सिस्टम इंजीनियरिंग में स्नातक की डिग्री पूरी की है। इसके बाद वह टेल्को स्पेस से इंजीनियर के तौर पर जुड़े थे। इसके बाद साल 2006 में उन्होंने सायरा कंपनी की स्थापना की। वह इसके सीईओ बने। इस कंपनी के सीटीओ लाउन त्रान और कार्यकारी निदेशक बॉनी मलिक हैं।