चीन व पाकिस्तान की सीमा को मजबूत करेगा भारत का यह 'निपुण'

इन नई माइंस की सौगात भारतीय सेना के कोर ऑफ इंजीनियर्स को मिलने जा रही है। ये प्रणाली भारतीय सेना की मौजूदा इंजीनियर टोही क्षमताओं को बढ़ाएगी। जैसे ही कोई भारत की सीमा में घुसने का प्रयास करेगा, ये माइंस अपना काम करेंगी और दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब मिल जाएगा।

चीन व पाकिस्तान की सीमा को मजबूत करेगा भारत का यह 'निपुण'

चीन और पाकिस्तान के साथ भारत का विवाद लंबे वक्त से जारी है। ऐसे में भारतीय सेना लगातार खुद को मजबूत कर रहीं। अब बॉर्डर क्षेत्रों में भारतीय सेना की ताकत में और इजाफा होने जा रहा है। सेना को जल्द ही 'निपुण' एंटी-पर्सनल माइंस की सौगात मिल सकती है। इसके अलावा भारतीय सेना को अब टैंक रोधी माइंस 'विभव' और 'विशाल' भी जल्द मिल जाएंगे। भारत के रक्षा अनुसंधान व विकास संगठन (DRDO) की ओर से विकसित की गईं इन माइंस का एडवांस लेवल का ट्रायल चल रहा है।

भारतीय सेना के प्रमुख जनरल मनोज मुकुंद नरवणे ने महाराष्ट्र के पुणे में कहा कि एंटी टैंक और एंटी पर्सनल माइंस की नई सीरीज का विकास किया जा रहा है। ये बहुत जरूरी हैं, क्योंकि अभी तक की माइंस पुराने प्रोटोकॉल के तहत थीं। उन्होंने कहा कि जरूरतों के हिसाब से जल्द ही विभिन्न तरह के माइंस को शामिल किया जाएगा। बताया जा रहा है कि इन माइंस के जरिए दुश्मनों का तुरंत सफाया कर दिया जाएगा। जैसे ही कोई भारत की सीमा में घुसने का प्रयास करेगा, ये माइंस अपना काम करेंगी और दुश्मन को मुंहतोड़ जवाब मिल जाएगा।