छा गए सिक्का साहब! स्टार्टअप से जुटा लिए 20 करोड़ डॉलर, मनोहर है इनकी कहानी

विशाल सिक्का का स्टार्टअप वियानाई दुनियाभर में कंपनियों को मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर और सेवाएं उपलब्ध कराता है। वियानाई सिलिकन मैली में सबसे तेजी से बढ़ने वाले एआई स्टार्टअप्स में से एक है।

छा गए सिक्का साहब! स्टार्टअप से जुटा  लिए 20 करोड़ डॉलर, मनोहर है इनकी कहानी

एक भारतीय अमेरिकी के नेतृत्व वाले आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस (AI) स्टार्टअप ने अब तक 20 करोड़ डॉलर (15.16 अरब रुपये) की राशि जुटा ली है। इसने अपनी नेतृत्व टीम में कुछ और महत्वपूर्ण सदस्यों को भी शामिल किया है। सिलिकन वैली में स्थित इस स्टार्टअप का नाम वियानई सिस्टम (Vianai System) है, जिसकी स्थापना भारतीय मूल के विशाल सिक्का ने की थी।

मानव केंद्रित एआई प्लेटफॉर्म और उत्पाद कंपनी वियानाई सिस्टम ने एक बयान में इसकी जानकारी दी। कंपनी ने अपनी नेतृत्व टीम के विस्तार को लेकर कहा कि डॉ. नवीन बुद्धिराजा को मुख्य प्रौद्योगिकी अधिकारी और डीन जर्मेयर को मुख्य राजस्व अधिकारी के पद पर नियुक्त किया गया है। शबाना खान को मार्केटिंग प्रमुख और प्रदीप पनिकर को वित्त प्रमुख की जिम्मेदारी दी गई है।

स्टार्टअप के संस्थापक विशाल सिक्का ने कहा कि हमारी टीम दुनिया भर में आई की कारोबारी क्षमताओं के बारे में उद्यमियों में समझ विकसित करने में सहायता उपलब्ध कराती है।

स्टार्टअप के संस्थापक विशाल सिक्का ने कहा कि मैं नवीन, डीन, शबाना और प्रदीप का वियानाई में स्वागत करके बहुत खुश हूं। उन्होंने कहा कि हमारी नेतृत्व टीम विशेषज्ञता, अनुभव और समर्पण का एक अद्भुत संयोजन का प्रदर्शन करती है। हमारी टीम दुनिया भर में आई की कारोबारी क्षमताओं के बारे में उद्यमियों में समझ विकसित करने में सहायता उपलब्ध कराती है।

उन्होंने कहा कि हमारी टीम में शामिल सभी सदस्य इनोवेशन को प्रसारित करने में विशेषज्ञता रखते हैं और ग्राहकों की सफलता पर ध्यान केंद्रित करते हैं। बता दें कि वियानाई सिलिकन मैली में सबसे तेजी से बढ़ने वाले एआई स्टार्टअप्स में से एक है। इसने दो राउंड में 20 करोड़ डॉलर जुटाए हैं और अंतिम राउंड में इसे सॉफ्टबैंक के विजन फंड से राशि प्राप्त हुई थी।

विशाल सिक्का का जन्म एक मई 1967 को भारत के मध्यप्रदेश के शाजापुर में हुआ था। उनका स्टार्टअप वियानाई दुनियाभर में कंपनियों को मशीन लर्निंग और आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस में अत्याधुनिक सॉफ्टवेयर और सेवाएं उपलब्ध कराता है। इसके साथ ही सिक्का भारतीय प्रौद्योगिकी कंपनी इन्फोसिस (Infosys) के सीईओ और प्रबंध निदेशक की जिम्मेदारी भी संभाल चुके हैं।