अमेरिका में सिख छात्र का जलवा, क्विज टूर्नामेंट में हजारों डॉलर जीत लिए

जसकरन ने अपनी जीत का श्रेय अपने माता-पिता को दिया है। जसकरन का कहना है कि उनके माता-पिता ने हर काम में उनका सहयोग और समर्थन किया है। उन्होंने बताया कि जब वह 13 साल का था तब उनकी मां ने उसे ऐसे टूर्नामेंट के लिए तैयार करना शुरू कर दिया था।

अमेरिका में सिख छात्र का जलवा, क्विज टूर्नामेंट में हजारों डॉलर जीत लिए

अमेरिका की कुल आबादी में महज 1.2 प्रतिशत हिस्सा भारतवंशी अमेरिकियों का है। लेकिन भारतीय मूल के लोगों ने अमेरिका के हर क्षेत्र में अपनी प्रतिभा का जौहर दिखाया है। कारोबार हो या अध्ययन-अध्यापन, हर क्षेत्र में कामयाबी के शिखर पर आपको कोई न कोई भारतवंशी नजर आएगा। इसी कड़ी में एक और नाम सामने आया है जसकरन सिंह का। अमेरिका के टेक्सास विश्वविद्यालय में पढ़ने वाले भारतीय मूल के छात्र जसकरन सिंह ने 250 हजार डॉलर  (1 करोड़ 88 लाख रुपये) का पुरस्कार जीता है।

यह पुरस्कार उन्होंने छात्रों के लिए आयोजित नेशनल कॉलेज चैंपियनशिप के एक क्विज टूर्नामेंट में जीता है। 22 साल के भारतीय मूल के इस सिख युवक ने 26 हजार छात्रों में आखिरी राउंड में चुने गए 35 अन्य छात्रों को हराकर इस खिताब पर कब्जा हासिल किया है। यह टूर्नामेंट करीब दो हफ्ते तक चला और जसकरन ने कामयाबी और प्रतिभा का झंडा अमेरिका की धरती पर गाड़ दिया। बता दें इस क्विज टूर्नामेंट में भारतीय मूल के अमेरिकी छात्रों का हमेशा से जलवा रहा है। पिछले साल 2021 में भारतीय मूल की विनिता कैलाशनाथ ने इस चैंपियनशिप पर कब्जा किया था। इससे पहले साल 2020 में कोविड महामारी की वजह से प्रतियोगिता का आयोजन नहीं हुआ था। लेकिन उससे पहले साल 2019 में भारतीय मूल के मिनेसोटा विश्वविद्यालय के निबिर शर्मा ने कामयाबी हासिल की थी।