‘मेड इन अमेरिका’ का झंडा बुलंद करने वाले मेहता अब पैलॉन से भिड़ने के मूड में

भारतीय मूल के रिक मेहता की ख्वाहिश है कि वह पहले साउथ एशियन अमेरिकन बनें जो न्यू जर्सी से जीत हासिल करे। न्यू जर्सी में भारतीय सहित साउथ एशिया से आए लोग बड़ी तादाद में रहते हैं। मेहता भोजन और दवाई प्रशासन में काम कर चुके हैं। इससे पहले वह ‘मेड इन अमेरिका’ दवाई अभियान भी लॉन्च कर चुके हैं।

‘मेड इन अमेरिका’ का झंडा बुलंद करने वाले मेहता अब पैलॉन से भिड़ने के मूड में

भारतीय मूल के रिक मेहता को किसी अन्य रिपब्लिकन उम्मीदवार के मुकाबले भारी मत हासिल करने के बावजूद साल 2020 के चुनाव में कामयाबी नहीं मिल पाई थी। उस वक्त वह अमेरिकी सीनेट सीट की दौड़ में कैरी बूकर से पीछे रह गए थे। हालांकि फरवरी 2021 में घोषणा की गई थी कि साल 2022 में वह कांग्रेस के लिए वह न्यू जर्सी के सातवें जिले से मैदान में होंगे। लेकिन रिक मेहता की योजना न्यू जर्सी के छठे जिले में डेमोक्रेट  फ्रैंक पैलॉन को चुनौती देने की है।

बता दें कि न्यू जर्सी में बड़ी संख्या में भारतीय मूल के अलावा दक्षिण एशिया के देशों के लोग रहते हैं। रिक मेहता ‘मेड इन अमेरिका’ दवाई के प्रबल पैरोकार माने जाते हैं। इसके लिए वह आवाज उठाते रहे हैं। रिक मेहता रिपब्लिकन हैं। एक अमेरिकी वेबसाइट के मुताबिक सीडी-7 से डेमोक्रेट टॉम मैलिनोवस्की के खिलाफ मैदान में उतरने की योजना के बाद मेहता का कहना है कि पिछले महीने नए जिलों की संरचना के बाद वह अब पैलॉन के खिलाफ लड़ना चाहते हैं।