IAIP के शिखर सम्मेलन में जुटे भारतीय शख्सियतों ने ऐसा खास क्या कहा?

इंडियन अमेरिकन इंपैक्ट प्रोजेक्ट (IAIP) की ओर से आयोजित एक दिवसीय सम्मेलन की थीम 'ड्रीम विद एंबिशन'थी। आयोजनों ने विभिन्न स्तरों पर महत्वपूर्ण और उल्लेखनीय काम करने के लिए दक्षिण एशियाई समुदाय की सराहना भी की।

IAIP के शिखर सम्मेलन में जुटे भारतीय शख्सियतों ने ऐसा खास क्या कहा?

चयनित भारतीय-अमेरिकी अधिकारी, युवा नेता, लॉ मेकर्स, प्रभावशाली राजनीतिज्ञ, पॉलिसी मेकर और कम्युनिटी ऑर्गेनाइजर वॉशिंगटन में एकत्र हुए थे। इस दौरान दक्षिण एशियाई अमेरिकियों की महत्वाकांक्षाओं व सपनों को पूरा करने के लिए काम करने के लिए अधिक लाभकारी, सुरक्षित और समृद्ध देश बनाने के तरीकों पर चर्चा की।

इंडियन अमेरिकन इंपैक्ट प्रोजेक्ट (IAIP) की ओर से पिछले दिनों आयोजित एक दिवसीय सम्मेलन की थीम 'ड्रीम विद एंबिशन'थी। इस दौरान विचार-विमर्श उन जरूरी मुद्दों पर केंद्रित रहा जिनमें नफरती अपराध, आप्रवासन, जलवायु परिवर्तन, हेल्थकेयर, गलत सूचनाओं के प्रसारित होने पर रोक, मतदान में लोगों की सहभागिता में इजाफा, समलैंगिकों को लेकर जागरूकता आदि शामिल रहे।

आयोजनों ने विभिन्न स्तरों पर महत्वपूर्ण और उल्लेखनीय काम करने के लिए दक्षिण एशियाई समुदाय की सराहना भी की। शुरुआती चर्चा का संचालन जगरनॉट (Juggernaut) की सीईओ स्निग्धा कौर, सांसद राजा कृष्णमूर्ति व रो खन्ना और अमी बेरा ने किया। इस दौरान प्रतिनिधित्व, महंगाई, गर्भपात के अधिकार और ग्रीन कार्ड के लिए बड़ी संख्या में लंबित आवेदनों जैसे विषयों पर चर्चा हुई।

अमेरिकी संसद की पहली और सबसे बुजुर्ग भारतीय-अमेरिकी बेरा ने बदलते राजनीतिक परिदृश्य को लेकर बात की। इसके सिनसिनाटी के मेयर आफताब पुरेवाल जैसे दक्षिण एशियाई मूल के नेताओं की प्रशंसा की और आईएआईपी जैसे संगठनों की तारीफ में भी कसीदे पढ़े। उन्होंने विकास की राह पर अमेरिका के सफर में में भारतीय और दक्षिण एशियाई समुदाय के योगदानों की सराहना की।