'मन की बात' में मोदी ने की प्रशंसा, 'खिल' उठा यह भारतीय-अमेरिकी एनजीओ

एनजीओ के प्रणव देसाई ने एक बयान में कहा कि हम बहुत सम्मानित महसूस कर रहे हैं। हमें और जिम्मेदारी का अहसास हो रहा है और हम इस सराहना के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त करते हैं। पीएम ने यह भी कहा था कि यह संगठन किस तरह से नई संभावनाओं का सृजन कर रहा है।

'मन की बात' में मोदी ने की प्रशंसा, 'खिल' उठा यह भारतीय-अमेरिकी एनजीओ

भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने अपने 'मन की बात' कार्यक्रम में एक भारतीय अमेरिकी गैर लाभकारी संगठन (NGO) के कार्यों का जिक्र करते हुए इसकी सराहना की थी। अब इस एनजीओ ने इसे लेकर प्रधानमंत्री मोदी के प्रति आभार व्यक्त किया है। 'वॉयस ऑफ एसएपी' (VOSAP) नामक यह एनजीओ दिव्यांगों के जीवन को सरल बनाने के उद्देश्य से काम करता है।

एनजीओ के प्रणव देसाई ने एक बयान में कहा कि हम बहुत सम्मानित महसूस कर रहे हैं। हमें और जिम्मेदारी का अहसास हो रहा है और हम इस सराहना के लिए प्रधानमंत्री मोदी का आभार व्यक्त करते हैं। बता दें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गत रविवार को 'मन की बात' कार्यक्रम के दौरान इस एनजीओ की ओर से किए जा रहे प्रौद्योगिकी नवोन्मेषों के कार्यों और दिव्यांगजनों पर इसके प्रभाव के बारे में बात की थी।

एनजीओ के प्रणव देसाई ने एक बयान में कहा कि हम बहुत सम्मानित महसूस कर रहे हैं। 

यहां प्रधानमंत्री मोदी ने बताया था कि किस तरह यह संगठन सहायक प्रौद्योगिकी के क्षेत्र में नए अवसरों को बढ़ावा दे रहा है और नई संभावनाओं का सृजन कर रहा है। उन्होंने संगठन की थ्रीडी वीओएसएपी कला दीर्घा (3D VOSAP Art Gallery) का भी जिक्र किया था। उल्लेखनीय है कि यह दिव्यांगता के विषय पर आधारित दुनिया की अपनी तरह की पहली वर्चुअल कला दीर्घा है।

इसे लेकर एनजीओ की ओर से जारी एक बयान में कहा गया कि प्रधानमंत्री मोदी ने अपने संबोधन के दौरान इस बात पर जोर दिया कि किस तरह प्रौद्योगिकी के जरिए दिव्यांगजनों की असाधारण क्षमताओं और कौशल को बढ़ाया जा रहा है। उन्होंने कहा था कि इससे देश और पूरी दुनिया को लाभ मिलेगा। बयान में कहा गया है कि वीओएसएपी नीति आयोग में प्रौद्योगिकियों को किफायती बना रहा है।