कभी गाइडेड मिसाइल की कमान संभाली थी, अब अमेरिकी सुरक्षा को करेंगी ‘गाइड’

अमेरिका में नेवादा की रहने वालीं शांति सेठी ने अंतरराष्ट्रीय संबंध में नारविच यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने दिसंबर 2010 से मई 2012 तक गाइडेड मिसाइल विध्वंसक यूएसएस डीकैचर की कमान संभाली थी।

कभी गाइडेड मिसाइल की कमान संभाली थी, अब अमेरिकी सुरक्षा को करेंगी ‘गाइड’

अमेरिकी प्रशासन में भारतीय मूल के लोगों की भूमिका बढ़ती जा रही है। इसमें नया नाम शांति सेठी का जुड़ा है है। उन्हें उपराष्ट्रपति कमला हैरिस का कार्यकारी सचिव और रक्षा सलाहकार नियुक्त किया गया है। शांति सेठी अमेरिकी नौसेना के जंगी जहाज की पहली महिला कमांडर रह चुकी हैं। वह भारत की यात्रा करने वाले अमेरिकी नौसैनिक पोत की पहली महिला कमांडर भी थीं। शांति सेठी के पिता 1960 के दशक में भारत से अमेरिका जाकर बस गए थे।

शांति सेठी को एस उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के कार्यालय में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद पर नियुक्त किया गया है।

यूएस उपराष्ट्रपति कमला हैरिस के कार्यालय में नियुक्त होने के बाद सेठी ने सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म लिंक्डइन पर अपनी प्रोफाइल अपडेट की है। जिसमें शांति सेठी ने उपराष्ट्रपति के कार्यालय में राष्ट्रीय सुरक्षा सलाहकार के पद पर नियुक्त होने का उल्लेख किया है। अमेरिका में नेवादा की रहने वालीं शांति सेठी ने अंतरराष्ट्रीय संबंध में नारविच यूनिवर्सिटी से ग्रेजुएशन किया है। उन्होंने जॉर्ज वाशिंगटन यूनिवर्सिटी के एलियट स्कूल ऑफ इंटरनेशनल अफेयर्स से मास्टर्स ऑफ इंटरनेशनल पॉलिसी एंड प्रैक्टिस में भी डिग्री हासिल की है।

सेठी 1993 में जब अमेरिकी नौसेना में शामिल हुई थीं और तब गैर अमेरिकियों की सेना में जिम्मेदारी सीमित थी। इसके बाद जब वह अधिकारी बनीं तब तक यह कानून हटा लिया गया था। इस तरह अमेरिका में पुरुषों के वर्चस्व वाली सेना में उन्हें बड़ी जिम्मेदारी निभाने का मौका मिला।

सेठी 1993 में अमेरिकी नौसेना में शामिल हुई थीं। 

उन्होंने दिसंबर 2010 से मई 2012 तक गाइडेड मिसाइल विध्वंसक यूएसएस डीकैचर की कमान संभाली थी। वर्ष 2015 में उन्हें रैंक ऑफ कैप्टन के तौर पर प्रोन्नत किया गया। इसके साथ ही शांति सेठी 2021-22 में नौसेना सचिव के वरिष्ठ सैन्य सलाहकार के रूप में भी काम कर चुकी हैं। सेठी ने पिछले साल एक साक्षात्कार में बताया था कि मैं एक ऐसे करियर में आगे बढ़ रही थी जो मेरे लिए कई संभावनाएं वाला था। यह मेरे लिए बहुत खुला था क्योंकि मैं पुरुषों वाले क्षेत्र में आगे बढ़ रही थी।

गौरतलब है कि कमला हैरिस अमेरिका के उपराष्ट्रपति के रूप में निर्वाचित होने वाली भारतीय मूल की पहली महिला हैं। कमला हैरिस भारतीय मूल की उन राजनेताओं में से एक हैं, जो अमेरिकी सियासत में अब तक के सबसे शीर्ष पद उपराष्ट्रपति तक पहुंची हैं। वहीं उपराष्ट्रपति कमला हैरिस को रक्षा सलाहकार के रूप में एक ऐसी शख्सियत का साथ मिला है जो उन्हीं की तरह भारतीय मूल की हैं। साथ ही उनके नाम नौसेना की पहली महिला कमांडर होने का गौरव भी हासिल है।