टेक्सास गोलीबारी पर अमेरिकी कांग्रेसी प्रमिला जयपाल ने क्या कहा

प्रमिला ने कहा कि रिपब्लिकन द्वारा कार्रवाई करने का निर्णय लेने से पहले और कितने प्राथमिक विद्यालयों में शूटिंग होगी? उन्होंने कहा कि मैं गुस्से में हूं और मुझे शर्म भी आ रही है। मैं उन लोगों की प्रार्थना को खोखला कहना चाहती हूं, जिन्होंने इन परिस्थितियों को बदलने के लिए कुछ नहीं किया।

टेक्सास गोलीबारी पर अमेरिकी कांग्रेसी प्रमिला जयपाल ने क्या कहा

अमेरिका स्थित टेक्सास में उवाल्डे के रॉब एलीमेंट्री स्कूल में गोलीबारी की घटना में 19 बच्चों समेत 21 लोगों की मौत हो गई। इस हादसे के बाद से पूरे देश में गम का माहौल है। अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने कहा कि हमारा देश लकवाग्रस्त हो चुका है। ये डर के कारण नहीं है बल्कि गन लॉबी और एक राजनीतिक पार्टी की वजह से है, जो कोई ठोस कदम उठाने की इच्छुक नहीं है। वहीं इस मुद्दे पर भारतीय अमेरिकी महिला कांग्रेसी प्रमिला जयपाल ने भी रिपब्लिकन को घेरते हुए अपनी प्रतिक्रिया दी है।

प्रमिला ने ट्विटर के माध्यम से कहा कि हमें दुख है उन परिवारों के लिए जिनके बच्चों की आज एक बंदूकधारी द्वारा हत्या कर दी गई और उवालदे के समुदाय के लिए जो शोकग्रस्त हैं। इन बच्चों और उनके शिक्षक के आगे उनका पूरा जीवन था। वह 18 बच्चे आज सुबह उठने के बाद स्कूल गए कि वह अपने शिक्षकों से कुछ सीखेंगे और दोस्तों के साथ खेलेंगे। लेकिन इस मूर्खतापूर्ण हिंसा के परिणामस्वरूप उनका भविष्य खत्म हो गया।

प्रमिला ने आगे कहा कि मैं गुस्से में हूं और मुझे शर्म भी आ रही है। मैं उन लोगों की प्रार्थना को खोखला कहना चाहती हूं, जिन्होंने इन परिस्थितियों को बदलने के लिए कुछ नहीं किया। अमेरिका में दुनिया की 4 फीसदी आबादी है लेकिन दुनिया की 42 फीसदी बंदूकें अमेरिका में हैं। प्रमिला ने टेक्सास के गवर्नर एबट को घेरते हुए कहा कि गर्वनर एबट ने हाल ही में बंदूक से जुड़े प्रतिबंधों को ढीला करने वाले कानूनों पर हस्ताक्षर किए।

उन्होंने कहा कि न्यूयॉर्क के शहर बफेलो में एक श्वेत वर्चस्ववादी द्वारा की गई सामूहिक गोलीबारी के ठीक एक सप्ताह बाद और सैंडी हुक के लगभग एक दशक बाद यह घटना सामने आई है। प्रमिला ने सवाल किया कि रिपब्लिकन द्वारा कार्रवाई करने का निर्णय लेने से पहले और कितने प्राथमिक विद्यालयों में शूटिंग होगी? उन्होंने कहा कि हमारे बच्चे मर रहे हैं क्योंकि अमेरिकी सीनेट ने कार्रवाई करने से इंकार कर दिया है। रिपब्लिकन सड़कों से बंदूकें खींचने की बजाय बंदूकें बेचने पर जोर दे रहे हैं।

दूसरी ओर भारतीय अमेरिकी कांग्रेसी रो खन्ना, राजा कृष्णमूर्ति और एमी बेरा ने भी इस हादसे को लेकर शोक व्यक्त किया है।