अनेक हुनर में माहिर हैं अदिति हार्दिकर, अब निगरानी में रहेगा अमेरिका का खजाना

आदित हार्दिकर साल 2013 में राष्ट्रपति की एक कमेटी में एलजीबीटी वित्त निदेशक के तौर पर भी काम कर चुकी हैं। 2012 में ओबामा के लिए चुनावी अभियान में वह एलजीबीटी वोटरों तक पहुंच बनाने की टीम में उन्होंने उप निदेशक के तौर पर काम किया था।

अनेक हुनर में माहिर हैं अदिति हार्दिकर, अब निगरानी में रहेगा अमेरिका का खजाना

भारतीय मूल की अमेरिकी नागरिक अदिति हार्दिकर अमेरिका का खजाना संभालेंगी। उन्हें कोषागार विभाग का उपप्रधान बनाया गया है। अदिति इस साल अप्रैल महीने से अपना कामकाज संभालेंगी। वह इस पद के लिए अल्फर्ड जॉनसन की जगह लेंगी। अदिति इस विभाग में पिछले साल जनवरी महीने से बतौर सलाहकार के रूप में नियुक्त हुई थीं। बता दें कि राष्ट्रपति चुनाव में वह बाइडन-कमला हैरिस के लिए काम कर चुकी हैं।

अमेरिका में अदिति की पहचान समलैंगिक, उभयलिंगी के अधिकारों के लिए लड़ने वाली के तौर पर रही है। वह ओबामा-बाइडन प्रशासन के दूसरे कार्यकाल में वॉइट हाउस ऑफिस में बतौर एसोसिएट डायरेक्टर के तौर पर काम कर चुकी हैं। इस दौरान वह एलजीबीटीक्यू (लेसबियन, गे, उभयलिंगी, किन्नर, क्वीयर) और एएपीआई (एशियाई-अमेरिकन और पैसिफिक आईलैंडर्स) समुदायों से जुड़े आर्थिक अवसर, स्वास्थ्य सुविधा, समलैंगिक अधिकार, डेटा संग्रह और आश्रयहीन युवाओं के लिए मुख्य तौर पर संपर्क और मेलजोल का काम देखती थीं। उन्होंने इस पद के लिए भारतीय मूल के गौतम राघवन का स्थान लिया था जो बाद में गिल फाउंडेशन से जुड़ गए थे।