Skip to content

नामीबिया से जल्द भारत आएंगे आठ अफ्रीकी चीते, इस खास अभ्यारण में रखे जाएंगे

एक अधिकारी के अनुसार दक्षिण अफ्रीका से 12 और चीते भारत लाने को लेकर होने वाला समझौता अंतिम चरण में है लेकिन इस महीने आठ चीतों का पहला जत्था ही भारत आ पाएगा।

Photo by Ahmed Galal / Unsplash

नामीबिया से आठ अफ्रीकी चीते जल्द ही भारत आने वाले हैं। इनमें चार नर और चार मादाएं हैं। इन्हे मध्यप्रदेश के कूनो अभयारण में रखा जाएगा। सोमवार को अंतरराष्ट्रीय विशेषज्ञों की एक टीम ने नामीबिया में उनकी प्राथमिक स्वास्थ्य जांच की। एक अधिकारी ने बताया कि हालांकि दक्षिण अफ्रीका से 12 और चीते भारत लाने को लेकर होने वाला समझौता अंतिम चरण में है लेकिन इस महीने आठ चीतों का पहला जत्था ही भारत आ पाएगा। ऐसा लग रहा है कि बाकी चीतों को लाने की खातिर होने वाले समझौते में समय लग रहा है।

चीतों के स्थानान्तरण कार्यक्रम से जुड़े एक वरिष्ठ वैज्ञानिक ने बताया है कि हम और अधिक इंतजार नहीं करना चाहते। पहले सभी चीतों को एक साथ ही लाने का कार्यक्रम था लेकिन अब देखना होगा कि दक्षिण अफ्रीका के साथ दूसरा समझौता कब हो पाता है। हालांकि नामीबिया से चीते कब आएंगे इसकी तारीख तय नहीं हुई है लेकिन हम कोशिश कर रहे हैं वे इसी महीने आ जाएं। नामीबिया में चीतों की स्वास्थ्य जांच प्रक्रिया हो गई है। चीतों की स्वास्थ्य संबंधी कुछ औपचारिकताएं भारत में संपन्न की जाएंगी। उन्हे कुछ वैक्सीन दी जाएंगी।

नामीबिया में चीता संरक्षण से जुड़े प्रवक्ता ने बताया कि स्वास्थ्य जांच पूरी हो गई है। लेकिन उनके स्थानांतरण और भारत में बसावट से जुड़ी कुछ चुनौतियां भी हैं। वैसे सभी चीते एक साथ भारत जा सकते हैं। इस दिशा में भारत, दक्षिण अक्रीका और नामीबिया की टीमें काम कर रही हैं। बताया जा रहा है कि एक चार्टर्ड प्लेन के जरिए 25 अगस्त के आसपास ये चीते जयपुर या ग्वालियर एयरपोर्ट पहुंचेंगे और फिर हेलिकॉप्टर से कूनो अभयारण्य ले जाए जाएंगे।

भारत और नामीबिया के बीच चीतों के आदान-प्रदान को लेकर पिछले महीने समझौता हुआ था। मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने एक ट्वीट के माध्यम से कहा है कि हमे विदेशी मेहमानों के आने का इंतजार है।

Latest