रूस-यूक्रेन संकट के बीच यूरोप को खाद्य आपूर्ति कर सकता है भारत!

रूस-यूक्रेन संकट के बीच भारत के रुख पर वाणिज्य और उद्योग मंत्री पीयूष गोयल कि भारत प्रतिकूल परिस्थितियों में अवसरों को नहीं देखता है। उन्होंने कहा कि हम युद्धग्रस्त देश के लोगों के दर्द और पीड़ा के प्रति बहुत संवेदनशील हैं। हमारा मानना ​​है कि संघर्ष समाप्त हो जाना चाहिए और शांति कायम रहनी चाहिए।

रूस-यूक्रेन संकट के बीच यूरोप को खाद्य आपूर्ति कर सकता है भारत!

भारत ने कहा है कि वह यूक्रेन-रूस संघर्ष के कारण चल रहे वैश्विक गेहूं उत्पादन में कमी के बीच खाद्यान्न और अन्य जरूरत के सामानों की कमी का सामना करने वाले किसी भी देश का समर्थन करने को तैयार हैं।

यह जानकारी शनिवार को भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच हुए आर्थिक सहयोग और व्यापार समझौते के बाद भारत में वाणिज्य और उद्योग, खाद्य और सार्वजनिक वितरण मंत्री पीयूष गोयल ने एक साक्षात्कार में दी। उन्होंने कहा कि भारत किसी भी राष्ट्र का समर्थन करने के लिए तैयार है जो खाद्यान्न और किसी भी प्रकार की जरूरत की वस्तुओं और सेवाओं की उपलब्धता से ग्रस्त हैं।