मदर टेरेसा के मिशनरीज ऑफ चैरिटी के पंजीकरण को भारत ने किया बहाल

मिशनरीज ऑफ चैरिटी को FCRA के तहत पंजीकरण संख्या 147120001 के तहत पंजीकृत किया गया था और इसका पंजीकरण 31 अक्टूबर 2021 तक वैध था। बाद में वैधता को अन्य FCRA संघों के साथ 31 दिसंबर 2021 तक बढ़ा दिया गया था।

मदर टेरेसा के मिशनरीज ऑफ चैरिटी के पंजीकरण को भारत ने किया बहाल

भारत सरकार के गृह मंत्रालय ने मदर टेरेसा के मिशनरीज ऑफ चैरिटी के पंजीकरण को जरूरी दस्तावेज जमा करने के बाद बहाल कर दिया है। गृह मंत्रालय ने यह फैसला विदेशी योगदान विनियमन अधिनियम पंजीकरण के तहत लिया है। पिछले साल 25 दिसंबर को गृह मंत्रालय ने मदर टेरेसा एनजीओ में प्रतिकूल इनपुट के कारण विदेशी अंशदान (विनियमन) अधिनियम (FCRA) लाइसेंस को नवीनीकृत करने से इनकार कर दिया था।

गृह मंत्रालय ने चैरिटी के किसी भी खाते को फ्रीज नहीं किया था। Photo by Jon Tyson / Unsplash

मिशनरीज ऑफ चैरिटी के FCRA लाइसेंस को खारिज करने के लिए राजनीतिक हंगामे के बाद गृह मंत्रालय ने तब एक बयान जारी करते हुए कहा था कि FCRA 2010 और विदेशी अंशदान विनियमन नियम (FCRR) 2011 के तहत शर्तों को पूरा नहीं करने की वजह से मिशनरीज ऑफ चैरिटी के लाइसेंस के नवीनीकरण आवेदन को 25 दिसंबर को अस्वीकार कर दिया गया था। बयान में कहा गया था कि नवीनीकरण के आवेदन को अस्वीकर करने के बाद मिशनरीज ऑफ चैरिटी की ओर से समीक्षा के लिए कोई अनुरोध या संशोधन आवेदन प्राप्त नहीं हुआ ​है।