सिडनी में नवोंकार सिंह की हिम्मत से टल गया था बड़ा हादसा, अब मिला सम्मान

अगर वो हिम्मत और सूझबूझ दिखाते हुए अपने वाहन को पेट्रोल पंप से दूर नहीं ले जाते तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था और कई लोगों की जानें जा सकती थीं।

सिडनी में नवोंकार सिंह की हिम्मत से टल गया था बड़ा हादसा, अब मिला सम्मान

ऑस्ट्रेलिया के सिडनी में रहने वाले भारतीय मूल के नवोंकार सिंह की बहादुरी की हर तरफ चर्चा हो रही है। 6 दिसंबर 2019 को न्यू साउथ वेल्स के मैकडॉगल्स हिल में एक सर्विस स्टेशन पर आग लगने के बाद नवोंकर सिंह की हिम्मत और सूझबूझ की सभी दाद दे रहे हैं। उन्हें इस बहादुरी के लिए अब प्रशस्ति पत्र मिला है। नवोंकार साल 2006 में भारत से ऑस्ट्रेलिया आए थे। उनके दो बच्चे हैं। और अपनी इस बहादुरी का श्रेय वह अपनी पत्नी को देते हैं।

नवोंकार सिंह साल 2006 में छात्र वीजा पर ऑस्ट्रेलिया आए थे। 

दरअसल, घटना वाले दिन नवोंकर सिंह अपने सेमी-ट्रेलर में तेल भरने के लिए मैकडॉगल्स हिल के एक सर्विस स्टेशन पर गए थे। इस दौरान अपने केबिन से बाहर निकलने पर उन्होंने देखा कि वाहन के नीचे से धुआं और आग की लपटें निकल रही हैं। उनका केबिन धुएं से भर गया था। लेकिन अपनी जान की परवाह न करते हुए वह तुरंत वह अपनी गाड़ी की ड्राइविंग सीट पर पहुंच गए। ऐसी स्थिति में भी वह अपनी गाड़ी को ईंधन टैंक से लगभग 20 मीटर दूर लेकर चले गए। अगर वो हिम्मत और सूझबूझ दिखाते हुए अपने वाहन को पेट्रोल पंप से दूर नहीं ले जाते तो बहुत बड़ा हादसा हो सकता था और कई लोगों की जानें जा सकती थीं। हालांकि नवोंकार ने पानी लेकर आग की लपटों को बुझाने का प्रयास किया। लेकिन आपातकालीन सेवाओं के आने से पहले आग ने उनके वाहन को नष्ट कर दिया।