'यूक्रेन में फंसे पड़ोसी देशों के नागरिकों को भी निकालने को तैयार है भारत'

यूक्रेन संकट पर संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद की बैठक के दौरान संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने कहा कि यूक्रेन में मानवीय आवश्यकताओं को ध्यान में रखते हुए, भारत सरकार ने दवाओं सहित तत्काल राहत आपूर्ति प्रदान करने का निर्णय लिया है।

'यूक्रेन में फंसे पड़ोसी देशों के नागरिकों को भी निकालने को तैयार है भारत'

संयुक्त राष्ट्र में भारत के स्थायी प्रतिनिधि टीएस तिरुमूर्ति ने यूक्रेन में मानवीय संकट पर चिंता ज़ाहिर करते हुए कहा कि यूक्रेन की सीमा पर हुई कुछ घटनाओं के कारण भारत का बचाव कार्य बाधित हुआ है। उन्होंने कहा कि भारत यूक्रेन में फंसे नागरिकों को निकालने के लिए विकासशील देशों और अपने पड़ोसी देशों की मदद के लिए भी तैयार है।

तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत इस बात से बहुत चिंतित है कि यूक्रेन में स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है।

टीएस तिरुमूर्ति ने सुरक्षा परिषद को यह भी बताया कि फंसे हुए भारतीय नागरिकों को निकालने के लिए चलाए जा रहे अभियान की निगरानी के लिए भारत सरकार चार मंत्रियों को भेज रही है। तिरुमूर्ति ने कहा कि भारत इस बात से बहुत चिंतित है कि यूक्रेन में स्थिति लगातार बिगड़ती जा रही है। हम हिंसा को तत्काल बंद करने और दुश्मनी को ख़त्म करने के अपने आह्वान को दोहराते हैं।