कोरोना प्रभाव: अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर भारत ने ​एक ​बार फिर बढ़ाया प्रतिबंध

कोरोना महामारी की पहली लहर के दौरान लॉकडाउन के चलते मार्च 2020 में अंतरराष्ट्रीय उड़ानें निलंबित की गई थी। ये इंटरनेशनल उड़ानें महामारी के चलते तभी से बंद हैं। लेकिन एयर बबल समझौते के तहत कुछ विशेष अंतरराष्ट्रीय यात्री उड़ानें संचालित हो रही हैं ताकि इमरजेंसी में यात्रियों को असुविधा न हो।

कोरोना प्रभाव: अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर भारत ने ​एक ​बार फिर बढ़ाया प्रतिबंध
Photo by Lukas Souza / Unsplash

भारत के नागरिक उड्डयन महानिदेशालय (DGCA) ने दुनिया भर में बढ़ते कोरोना वायरस मामलों को देखते हुए भारत से और भारत के लिए अंतरराष्ट्रीय उड़ानों पर निलंबन 28 फरवरी तक बढ़ा दिया है। इससे पहले भारत सरकार ने 31 जनवरी तक देश से आने-जाने वाली सभी इंटरनेशनल उड़ानों को स्थगित किया हुआ था।

महानिदेशालय ने एक परिपत्र जारी करते हुए कहा कि सक्षम प्राधिकारी ने 28 फरवरी के भारतीय समयानुसार 23 बजकर 59 मिनट तक भारत से और भारत के लिए अनुसूचित अंतरराष्ट्रीय वाणिज्यिक यात्री सेवाओं के निलंबन का विस्तार करने का निर्णय लिया है। हालांकि एयर बबल व्यवस्था के तहत उड़ानें जारी रहेंगी।