लांग आईलैंड में 7 अगस्त को होगी इंडिया डे परेड, बलिदानी याद किए जाएंगे

आईडीपी यूएसए के अध्यक्ष विमल गोयल ने कहा इस बार उत्साह अधिक है क्योंकि हम भारत की स्वतंत्रता के 75वां ऐतिहासिक वर्ष पर 'आजादी का अमृत महोत्सव' जश्न मना रहे हैं। इस बार परेड कार्ल स्ट्रीट वेस्ट के हिक्सविले कम्युनिटी सेंटर से शुरू होगी।

लांग आईलैंड में 7 अगस्त को होगी इंडिया डे परेड, बलिदानी याद किए जाएंगे

भारत की स्वतंत्रता की 75 वीं वर्षगांठ के उपलक्ष्य में अमेरिका के इंडिया डे परेड यानी आईडीपी ने 7 अगस्त को लॉन्ग आइलैंड में अपनी 12वीं भारत दिवस परेड आयोजित करने की घोषणा की है। इस मसले पर पिछले दिनों न्यूयॉर्क के माइनोला में प्रतिष्ठित नासाउ काउंटी कार्यकारी और विधान भवन बिल्डिंग में एक कार्यक्रम आयोजित किया गया, जिसमें आईडीपी यूएसए टीम के सदस्यों, पूर्व अध्यक्ष, समुदाय के नेताओं और नासाउ काउंटी के अधिकारियों ने भाग लिया था।

कार्यक्रम में आईडीपी यूएसए टीम के सदस्यों, समुदाय के नेताओं और नासाउ काउंटी के अधिकारियों ने भाग लिया।

आईडीपी यूएसए के अध्यक्ष विमल गोयल ने कहा इस बार उत्साह अधिक है क्योंकि हम भारत की स्वतंत्रता के 75वां ऐतिहासिक वर्ष पर 'आजादी का अमृत महोत्सव' जश्न मना रहे हैं। इस बार परेड कार्ल स्ट्रीट वेस्ट के हिक्सविले कम्युनिटी सेंटर से शुरू होगी। उन्होंने स्वतंत्रता सेनानियों के बलिदानों को याद किया। उन्होंने कहा कि किसी देश के लिए स्वतंत्रता कितनी महत्वपूर्ण है, जिसे आप यूक्रेन के रूस के आक्रमण के प्रतिरोध में देख सकते हैं।

कार्यक्रम में मौजूद आईडीपी के पूर्व अध्यक्ष मुकेश मोदी ने औपचारिक दीप प्रज्ज्वलित किया।

आईडीपी यूएसए के संस्थापक और मानवाधिकार पर नासाउ काउंटी आयोग के अध्यक्ष बॉबी के कलोटी ने अपने संबोधन में भारत की बौद्धिक शक्ति और स्वतंत्र सोच की प्रशंसा की और कहा कि कोई भी देश को बेड़ियों में नहीं रख सकता था। उन्होंने टाउन एंड काउंटी की ओर से परेड के लिए पूर्ण समर्थन और सुरक्षा का भी वादा किया।

कार्यक्रम में गणेश वंदना भी की गई, जिसे काफी सराहा गया। 

वहीं कार्यक्रम में मौजूद आईडीपी के पूर्व अध्यक्ष मुकेश मोदी ने औपचारिक दीप प्रज्ज्वलित किया। कार्यक्रम में गणेश वंदना भी की गई जिसे एक युवती द्वारा प्रस्तुत किया गया था। आईडीपी अध्यक्ष इंदु जायसवाल और पूर्व अध्यक्ष बीना कोठारी ने अपने संक्षिप्त भाषणों में तन-मन-धन (शरीर, मन और धन) के साथ परेड का समर्थन करने के लिए समुदाय का आह्वान किया।