यह 'प्यास' है बड़ी! 'आने वाले वक्त में भारत को चाहिए 19 लाख तकनीकी पेशेवर'

डिजिटल कौशल की बात आती है तो अंतर और भी व्यापक होता है। देश में अभी 13 लाख डिजिटल रूप से कुशल पेशेवर हैं और अभी भारत को 5 लाख पेशेवरों की कमी का सामना करना पड़ रहा है। साल 2026 तक यह 14-18 लाख की कमी में बदल सकता है।

यह 'प्यास' है बड़ी! 'आने वाले वक्त में भारत को चाहिए 19 लाख तकनीकी पेशेवर'
Photo by JESHOOTS.COM / Unsplash

वित्त वर्ष 2022 में भारत रिकॉर्ड स्तर पर टेक इं​डस्ट्री में 4.5 लाख कर्मचारियों की भर्ती करेगा। बावजूद इसके हाल ही में एक रिपोर्ट आई है जिसके मुताबिक इसी इंडस्ट्री में अगले कुछ वर्षों में भारत को करीब 19 लाख कर्मचारियों की कमी का सामना करना पड़ सकता है। नैसकॉम-जिनोव की एक हालिया रिपोर्ट के अनुसार भारत को साल 2026 तक 14-19 लाख तकनीकी पेशेवरों की कमी का सामना करना पड़ सकता है।

भारत में मौजूदा वक्त में 52 लाख तकनीकी कर्मचारियों की जरूरत है। साल 2021 के आंकड़ों के मुताबिक भारत में 47 लाख तकनीकी कर्मचारी हैं। यह अंतर 21.1 फीसदी का है जो मौजूदा वक्त में सभी प्रमुख अर्थव्यवस्थाओं में विश्व स्तर पर सबसे कम है। लेकिन साल 2026 तक भारत में 75-78 लाख तकनीकी पेशेवर होने का अनुमान है। हालांकि आवश्यकता 93-96 लाख तकनीकी विशेषज्ञों की हो सकती है जो 14-19 लाख तकनीकी कर्मचारियों के अंतर को दर्शाती है।