यूक्रेन संकट पर UNSC में रूस के प्रस्ताव पर भी मतदान से दूर रहा भारत

रूस के प्रस्ताव पारित कराने के लिए कम से कम नौ वोट की जरूरत थी। इसके साथ ही यह भी जरूरी था कि सुरक्षा परिषद के चार अन्य स्थायी सदस्यों अमेरिका, ब्रिटेन, फ्रांस और चीन में से कोई भी ‘वीटो’ का इस्तेमाल न करे।

यूक्रेन संकट पर UNSC में रूस के प्रस्ताव पर भी मतदान से दूर रहा भारत

यूक्रेन में मानवीय संकट पर रूस की ओर से संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद (UNSC) में पेश किए गए प्रस्ताव पर भारत मतदान से दूर रहा। रूस ने यूएनएससी में अपना खुद के मानवीय प्रस्ताव पर मतदान की मांग की थी।

यूक्रेन-रूस संकट को लेकर यह पहली बार नहीं है जब इससे संबंधित किसी प्रस्ताव पर भारत मतदान में शामिल न हुआ हो। 

लेकिन यह प्रस्ताव पारित नहीं हो सका। इसमें यूक्रेन की बढ़ती मानवीय जरूरतों को तो स्वीकार किया गया था लेकिन रूसी हमले के बारे में कोई बात नहीं की गई थी। इस प्रस्ताव के समर्थन में 15 सदस्यीय यूएनएससी में केवल रूस और चीन ने वोट किया।