इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में 50 बिलियन डॉलर का इसलिए निवेश करेगा QUAD

शिखर सम्मेलन के दौरान नेताओं ने एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता और संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के महत्व को दोहराया।

इंडो-पैसिफिक क्षेत्र में 50 बिलियन डॉलर का इसलिए निवेश करेगा QUAD

जापान की राजधानी टोक्यो में हुई क्वाड (QUAD) देशों की मुलाकात में पांच वर्षों में भारत-प्रशांत क्षेत्र में बुनियादी ढांचे और निवेश के लिए 50 बिलियन अमरीकी डॉलर आवंटित करने पर सहमति व्यक्त की गई है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी समेत जापान, अमेरिका और ऑस्ट्रेलिया के प्रमुख नेताओं ने भी टोक्यो में हुई इस दूसरी इन-पर्सन क्वाड लीडर्स समिट में भाग लिया।

शिखर सम्मेलन के दौरान नेताओं ने एक स्वतंत्र, खुले और समावेशी इंडो-पैसिफिक के लिए अपनी साझा प्रतिबद्धता और संप्रभुता, क्षेत्रीय अखंडता और विवादों के शांतिपूर्ण समाधान के सिद्धांतों को बनाए रखने के महत्व को दोहराया। क्वाड जॉइंट लीडर्स की ओर से आए बयान में कहा गया है कि हम अपने भागीदारों और इंडो पैसिफिक क्षेत्र में मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्ध हैं। इसके लिए क्वाड अगले पांच वर्ष में भारत-प्रशांत में 50 बिलियन अमरीकी डॉलर यानी लगभग 4 लाख करोड़ रुपये से अधिक की बुनियादी ढांचा सहायता और निवेश का विस्तार करने की कोशिश करेगा।

यह रेखांकित करते हुए कि भारत-प्रशांत क्षेत्र में उत्पादकता और समृद्धि को बढ़ाने के लिए बुनियादी ढांचे पर सहयोग को गहरा करना महत्वपूर्ण है क्वाड नेताओं ने ऋण के मुद्दों को संबोधित करने की प्रतिबद्धता साझा की जो कई देशों में महामारी से बढ़ गए हैं। बयान में कहा गया कि हम G20 कॉमन फ्रेमवर्क के तहत ऋण के मुद्दों से निपटने के लिए और क्वाड डेट मैनेजमेंट रिसोर्स पोर्टल सहित संबंधित देशों के वित्त अधिकारियों के साथ निकट सहयोग में ऋण स्थिरता और पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए देशों की क्षमताओं को मजबूत करने के लिए काम करेंगे जिसमें कई द्विपक्षीय और बहुपक्षीय क्षमता निर्माण सहायता शामिल है।

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री ने कहा, भारत और हमारे संबंध कभी इतने घनिष्ठ नहीं रहे

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी क्वाड शिखर सम्मेलन के दौरान ऑस्ट्रेलिया के नव-निर्वाचित प्रधानमंत्री एंथनी अल्बानीज से भी मिले। दोनों की इस मुलाकात पर भारत के प्रधानमंत्री कार्यालय ने ट्वीट किया कि ऑस्ट्रेलिया के साथ दोस्ती को आगे बढ़ाने के लिए प्रधानमंत्री @narendramodi और @AlboMP ने टोक्यो में चर्चा की। वार्ता भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच विभिन्न क्षेत्रों में विकास सहयोग को गहरा करने पर केंद्रित थी।

वार्ता के दौरान प्रधानमंत्री मोदी ने अल्बनीज को चुनावी जीत के लिए बधाई दी। विदेश मंत्रालय की ओर से दी गई जानकारी के अनुसार दोनों नेताओं ने व्यापक रणनीतिक साझेदारी के तहत बहुआयामी सहयोग की समीक्षा की, जिसमें व्यापार और निवेश, रक्षा निर्माण, हरित हाइड्रोजन सहित अक्षय ऊर्जा, शिक्षा, विज्ञान और प्रौद्योगिकी, कृषि अनुसंधान, खेल और लोगों से लोगों के बीच संबंध शामिल हैं। इसके अलावा प्रधानमंत्री मोदी ने ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री को जल्द से जल्द भारत आने का निमंत्रण दिया।

दूसरी ओर प्रधानमंत्री अल्बनीज ने ट्वीट किया कि ऑस्ट्रेलिया-भारत संबंध कभी भी इतने घनिष्ठ नहीं रहे हैं। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा कि उनकी मुलाकात @narendramodi से हुई जिसमें दोनों के बीच स्वच्छ ऊर्जा प्रौद्योगिकी सहित आर्थिक एजेंडे पर बातचीत हुई।