IMF की चीफ इकोनॉमिस्ट की नौकरी छोड़कर हार्वर्ड यूनिवर्सिटी लौटेंगी गीता

गीता का जन्म कर्नाटक के मैसूर में हुआ था। उन्होंने लेडी श्रीराम कालेज से बीए की पढ़ाई की और फिर इकोनॉमिक्स में मास्टर्स के लिए दिल्ली स्कूल ऑफ़ इकोनॉमिक्स चली गई। गीता गोपीनाथ ने जनवरी 2019 में इंटरनेशनल मॉनेटरी फंड (IMF) के चीफ इकोनॉमिस्ट का पद संभाला था।

IMF की चीफ इकोनॉमिस्ट की नौकरी छोड़कर हार्वर्ड यूनिवर्सिटी लौटेंगी गीता

अंतर्राष्ट्रीय मुद्रा कोष (International Monetary Fund) की चीफ इकोनॉमिस्ट गीता गोपीनाथ (Gita Gopinath) अगले साल जनवरी में अपने पद से हट जाएंगी। गीता गोपीनाथ एक बार फिर हॉवर्ड विश्वविद्यालय  के अर्थशास्त्र विभाग में शिक्षण के कार्य में वापस लौटेंगी।

49 साल की गीता गोपीनाथ IMF की पहली महिला चीफ इकोनॉमिस्ट हैं। 

गीता गोपीनाथ (49 वर्ष) भारतीय मूल की अमेरिकी अर्थशास्त्री हैं। वह IMF की पहली महिला चीफ इकोनॉमिस्ट हैं। वह आरबीआई के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन के बाद आईएमएफ में इस पद तक पहुंचने वाली दूसरी भारतीय हैं।