वॉशिंगटन स्मारक पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, सैकड़ों लोग हुए शामिल

भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले भारतीयों के शामिल होने पर खुशी जताई। अमेरिका में इस समय 37 लाख योग अभ्यास करने वाले लोग हैं। साथ ही बढ़ती मांग के चलते पूरे अमेरिका में योग स्टूडियो की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

वॉशिंगटन स्मारक पर अंतरराष्ट्रीय योग दिवस, सैकड़ों लोग हुए शामिल

कोरोना वायरस वैश्विक महामारी की वजह से दो साल की रोक के बाद भारतीय दूतावास की ओर से वॉशिंगटन स्मारक (Washington Monument) पर आयोजित योग सत्र सफलतापूर्वक आयोजित हुआ। 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस से पहले 18 जून को इस विशेष कार्यक्रम का आयोजन किया गया था जिसमें बड़ी संख्या में लोगों ने हिस्सा लिया।

कोविड-19 महामारी के चलते दो साल योग दिवस समारोह वर्चुअल माध्यम से आयोजित किए गए थे।

भारतीय दूतावास ने 'फ्रेंड्स ऑफ योगा' (Friends of Yoga) नामक एक संगठन के साथ भागीदारी की थी और योग कार्यक्रम आयोजित किया था। इस सत्र में सैकड़ों लोग शामिल हुए। भारतीय राजदूत तरनजीत सिंह संधू ने इस कार्यक्रम में शामिल होने वाले भारतीय डायस्पोरा के हर उम्र के लोगों की बड़ी संख्या को देखते हुए प्रसन्नता जाहिर की।

बता दें कि योग को पूरी दुनिया में स्वस्थ जीवन के एक स्वरूप के तौर पर स्वीकार किया गया है। सबसे महत्वपूर्ण यह है कि योग ने किस तरह हर उम्र के लोगों को अपनी ओर आकर्षित किया है। जानकारी के अनुसार अमेरिका में इस समय 37 लाख योग अभ्यास करने वाले लोग हैं। साथ ही बढ़ती मांग के चलते पूरे अमेरिका में योग स्टूडियो की संख्या में लगातार बढ़ोतरी हो रही है।

दो साल के ब्रेक के बाद हो रहे आयोजन

कोविड-19 महामारी के चलते दो साल योग दिवस समारोह वर्चुअल माध्यम से आयोजित किए गए थे। इसके अलावा नेशनल साइंस फाउंडेशन के 15वें निदेशक डॉ. सेतुरमण पंचनाथन ने नेशनल मॉल पर हुए योग सत्र में शिरकत की थी। यहां उन्होंने योग और विज्ञान के बीच संबंध स्थापित करते हुए इसका महत्व बताया था।

पंचनाथन ने कहा कि एकजुट करने वाली शक्ति के रूप में योग अब विभिन्न रास्तों पर चलने वाले लोगों को साथ आने में सक्षम बना रहा है। उन्होंने कहा कि योग का प्राचीन अभ्यास भारत की ओर से पूरी मानवता के लिए एक महान उपहार है। इसके अलावा ह्यूस्टन के डिस्कवरी ग्रीन पार्क समेत देश के विभिन्न राज्यों में योग सत्रों का का आयोजन किया गया।