पाकिस्तान के प्राचीन मंदिर में भारत, अमेरिका और UAE के हिंदुओं ने की पूजा

पाकिस्तान के खैबर पख्तूनख्वा के करक जिले (Karak district) के टेरी गांव में परमहंस जी के मंदिर और ‘समाधि’ का पिछले साल जीर्णोद्धार किया गया था। वर्ष 2020 में एक भीड़ ने वहां तोड़फोड़ की थी जिसकी विश्व स्तर पर निंदा की गई थी। हिंदुओं की सुरक्षा के लिए वहां व्यापक स्तर पर पुलिस बल तैनात किया गया था।

पाकिस्तान के प्राचीन मंदिर में भारत, अमेरिका और UAE के हिंदुओं ने की पूजा

पाकिस्तान के 100 साल पुराने हिंदू मंदिर में पूजा करने के लिए भारत, अमेरिका और UAE के सैकड़ों तीर्थयात्री पेशावर पहुंचे। करीब 200 से अधिक हिंदू श्रद्धालुओं ने कड़ी सुरक्षा के बीच महाराज परमहंस जी मंदिर में पूजा-अर्चना की। इस मंदिर को एक कट्टरपंथी इस्लामी दल के लोगों ने एक साल पहले ध्वस्त कर दिया था। बाद में सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर इसकी मरम्मत की गई।

कई देशों से पहुंचे श्रद्धालुओं के मद्देनजर यहां व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की गई थी।

कई देशों से पहुंचे श्रद्धालुओं के मद्देनजर यहां व्यापक सुरक्षा व्यवस्था की गई थी। इस दौरान सुरक्षा के लिए 600 कर्मियों की तैनाती की गई थी। एक साल पहले पाकिस्तान की एक चरमपंथी पार्टी के समर्थकों ने मंदिर में तोड़फोड़ की थी। हिंदुओं के समूह में भारत के लगभग 200 श्रद्धालु थे, जबकि दुबई से 15 के साथ ही अमेरिका और अन्य खाड़ी देशों के श्रद्धालु पहुंचे थे।