अमेरिका के इस खतरनाक हथियार से हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मजबूत बनेगा भारत

अमेरिकी रक्षा मंत्रालय के मुताबिक "हार्पून मिसाइल दुनिया की सबसे कामयाब एंटी शिप मिसाइल है। अमेरिका के साथ भारत का मिलियन डॉलर का सौदा दोनों देशों के बीच संबंधों में एक बड़ा विकास है।

अमेरिका के इस खतरनाक हथियार से हिंद-प्रशांत क्षेत्र में मजबूत बनेगा भारत

अमेरिकी की रक्षा एजेंसी पेंटागन ने भारत के साथ 82 मिलियन डॉलर (करीब 6 अरब 9 करोड़ 20 लाख 87 हजार 500) के सौदे को मंजूरी दे दी है। इस सौदे में भारत को एंटी शिप मिसाइल हार्पून मिलेगी। किसी भी मौसम में इसका इस्तेमाल किया जा सकता है।

हार्पून एंटी शिप मिसाइल को अमेरिका और इजरायल के अलावा अब भारत भी इस्तेमाल करेगा। Photo by Michael Afonso / Unsplash

अमेरिका भारत को हार्पून ज्वाइंट कॉमन टेस्ट सेट, एक रखरखाव के लिए स्टेशन, परीक्षण उपकरण, तकनीकी दस्तावेज, कर्मियों को प्रशिक्षण और स्पेयर-मरम्मत के सामान भी देगा। हार्पून एंटी शिप मिसाइल को सबसे पहले 1977 में तैनात​ किया गया था। इसे अमेरिका और इजरायल के अलावा अब भारत भी इस्तेमाल करेगा। ये काफी ज्यादा विध्वंसक मिसाइल है, जो बड़े से बड़े जहाज के परखचे उड़ा सकती है।