भारत में कार हादसे में हो गई थी माता-पिता की मौत, घायल बच्चे ठीक होकर वापस एडिलेड लौटे

तेलंगाना में घर जाते वक्त उनकी टैक्सी दुर्घटनाग्रस्त हो गई थी, जिसमें हेमाम और रजिथा की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि दोनों बच्चे बुरी तरह घायल हो गए थे। दोनों बच्चों की मदद के लिए एक ऑनलाइन क्राउडफंडिंग अभियान भी शुरू किया गया था। इसके तहत 2.46 लाख डॉलर (से अधिक राशि जुटाई जा चुकी है।

भारत में कार हादसे में हो गई थी माता-पिता की मौत, घायल बच्चे ठीक होकर वापस एडिलेड लौटे

भारत स्थित तेलंगाना राज्य में अप्रैल में हुए एक हादसे में भारतीय मूल के एक दंपती की मौत हो गई थी। ये दंपती ऑस्ट्रेलिया के एडिलेड के रहने वाले थे। इस हादसे में उनके दो बच्चे भी घायल हुए थे। अब ये बच्चे भारत से वापस एडिलेट में अपने घर वापस पहुंच गए हैं। दोनों बच्चे भावग्ना (9) और पल्विथ (6) अपने माता-पिता के करीबी दोस्त मिरियम और सैम कालाद्रि के साथ एडिलेड में ही रहेंगे।

हेमाम और रजिथा एडिलेड में एक आईटी कंपनी में काम करते थे और लंबे समय के बाद भारत आए थे। 

एडिलेड के रहने वाले हेमाम बरादर (40) और उनकी पत्नी रजिथा (35) अपने दो बच्चों के साथ तेलंगाना के शमशाबाद एयरपोर्ट  पहुंचे थे। यहां से उन्होंने आंध्र प्रदेश के कृष्णा जिले में स्थित रेड्डीगुडेम गांव के लिए टैक्सी की जहां उनका परिवार रहता है। हेमाम और रजिथा एडिलेड में एक आईटी कंपनी में काम करते थे और लंबे समय के बाद भारत आए थे।

रास्ते में उनकी टैक्सी एक पुलिया की दीवार से टकरा गई थी। हादसे में हेमाम और रजिथा की मौके पर ही मौत हो गई थी। जबकि दोनों बच्चे बुरी तरह घायल हो गए थे। दोनों बच्चों की मदद के लिए एक ऑनलाइन क्राउडफंडिंग अभियान भी शुरू किया गया था। इसके तहत 2.46 लाख डॉलर (करीब एक करोड़ 90 लाख 78 हजार 689 रुपये) से अधिक राशि जुटाई जा चुकी है।

दोनों बच्चे जब एडिलेड एयरपोर्ट पर पहुंचे तो भारतीय समुदाय के लोगों ने तालियां बजाकर उनका स्वागत किया और उपहार दिए। बच्चों के दादा-दादी की उम्र बहुत अधिक है और उनके पास पासपोर्ट भी नहीं है। इसलिए वह भारत में बच्चों की देखभाल नहीं कर पा रहे थे। कालाद्रि दंपती बच्चों को लाने के लिए हैदराबाद गए थे जहां से वह उन्हें अपने साथ एडिलेड लेकर आए।