अमेरिकी बॉर्डर पर पकड़े गए भारतीयों का अता-पता लगाने जुटी गुजरात पुलिस

यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन ने बताया था कि पिछले हफ्ते गुरुवार को उन्होंने सात लोगों को गिरफ्तार किया था। उनमें से छह भारत के नागरिक हैं जबकि सातवां शख्स अमेरिकी नागरिक था। अमेरिकी नागरिक पर मानव तस्करी का आरोप लगाया गया था।

अमेरिकी बॉर्डर पर पकड़े गए भारतीयों का अता-पता लगाने जुटी गुजरात पुलिस

अमेरिकी-कनाडा सीमा पर अमेरिका में घुसने के असफल प्रयास के दौरान गिरफ्तार किए गए छह युवा भारतीय नागरिकों के परिवारों का पता लगाने के लिए गुजरात पुलिस ने जांच शुरू कर दी है। दरअसल 19 से 21 वर्ष के आयु वर्ग के छह भारतीय नागरिकों को कनाडा की सीमा के पास अमेरिका के एक्वेसने में सेंट रेजिस नदी में एक डूबती नाव से गिरफ्तार किया गया था।

गुजरात के मेहसाणा जिले के पुलिस अधीक्षक अचल त्यागी ने कहा कि हमें पता चला है कि वे छह भारतीय मेहसाणा जिले के मूल निवासी हैं। लेकिन हमारे पास उनके बारे में कोई अन्य जानकारी नहीं है। उनके परिवारों ने भी हमसे अभी तक किसी भी मदद के लिए संपर्क नहीं किया है। हमने अपनी तरफ से परिवारों का पता लगाने के लिए जांच शुरू कर दी है।

यूएस कस्टम्स एंड बॉर्डर प्रोटेक्शन ने बताया था कि पिछले हफ्ते गुरुवार को उन्होंने सात लोगों को गिरफ्तार किया था। उनमें से छह भारत के नागरिक हैं जबकि सातवां शख्स अमेरिकी नागरिक था। अमेरिकी नागरिक पर मानव तस्करी का आरोप लगाया गया था। इन छह भारतीय नागरिकों की पहचान अमेरिकी अधिकारियों ने एनए पटेल, डीएच पटेल, एनई पटेल, यू पटेल, एस पटेल और डीए पटेल के रूप में की थी।

जिन चार की मौत हुई थी उसमें 39 वर्षीय जगदीश पटेल, उनकी पत्नी और दो बच्चे थे।

जानकारी के लिए आपको बता दें कि जनवरी में भी गुजरात के डिंगुचा गांव से ताल्लुक रखने वाला एक परिवार अवैध रूप से अमेरिका में घुसने की कोशिश कर रहा था। हालांकि उनकी जान चली गई थी। दरअसल वह बर्फीले इलाके से कनाडा से अमेरिका पैदल घुसने की कोशिश कर रहे थे लेकिन खून जमा देने वाली उस ठंड में खुद को बचा नहीं पाए। जिन चार की मौत हुई थी उसमें 39 वर्षीय जगदीश पटेल, उनकी पत्नी और दो बच्चे थे।