भारत विरोधी गतिविधियों से जुड़ी चिंताओं पर कनाडा से चल रही बातचीत

भारत के विदेश मंत्रालय ने भी पिछले सप्ताह कहा था कि कुछ ऐसी घटनाएं सामने आई हैं जहां कट्टरपंथी तत्वों ने विदेशों में भारतीय राजनयिक परिसरों को नुकसान पहुंचाने की कोशिश की गई है। हालांकि मंत्रालय ने यह भी कहा कि इस तरह की कोशिशों से निपटने के लिए पर्याप्त इंतजाम और उपाय अमल में लाए गए हैं।

भारत विरोधी गतिविधियों से जुड़ी चिंताओं पर कनाडा से चल रही बातचीत

भारत सरकार ने कहा है कि कनाडा में खालिस्तान समर्थकों का एक छोटा सा समूह वहां पर भारत के विरोध में भावनाओं को फैलाने का काम कर रहा है और हम इस मामले पर कनाडा की सरकार से लगातार बातचीत कर रहे हैं। भारत के विदेश राज्य मंत्री वी मुरलीधरन ने राज्यसभा में यह जानकारी दी थी।

मुरलीधरन ने गुरुवार को कहा कि दोनों ही देशों की सरकारों ने द्विपक्षीय संबंधों के आधार पर भारत और कनाडा की सार्वभौमिकता, एकता और क्षेत्रीय अखंडता के बुनियादी सिद्धांतों को मान्यता प्रदान की है। उन्होंने कहा कनाडा में भारतीय मूल के लोग बड़ी संख्या में निवास करते हैं और वह भारत से भावनात्मक रूप से जुड़े हुए हैं।