यूक्रेन से 'अपनों' को निकालने के लिए हवाई उड़ान बढ़ाने की कवायद में लगा भारत

कई भारतीय छात्र इस समय यूक्रेन में हैं और उनके परिवार अपने बच्चों को लेकर चिंतित हैं। उनके लिए सबसे बड़ी चिंता भारत के लिए फ्लाइट को लेकर है। सरकार प्रयास में लगी है कि छात्रों को निकालने के लिए उड़ानों की संख्या बढ़ाई जा सके।

यूक्रेन से 'अपनों' को निकालने के लिए हवाई उड़ान बढ़ाने की कवायद में लगा भारत

यूक्रेन और रूस के बीच तनावपूर्ण स्थिति को देखते हुए भारत सरकार भारत और युक्रेन के बीच उड़ानों की संख्या बढ़ाने की संभावना तलाश रही है। आधिकारिक सूत्रों का कहना है कि भारत और यूक्रेन के बीच उड़ानों की संख्या कैसे बढ़ाई जाए इस पर नागरिक उड्डयन अधिकारियों और विभिन्न एयरलाइनों के साथ चर्चा चल रही है। खबर है कि भारत सरकार ने कोरोना महामारी के चलते एयर बबल सुविधा के तहत उड़ानों की संख्या में जो प्रतिबंध लगाए थे उन्हें भी हटा लिया गया है।

यूक्रेन में भारतीय दूतावास ने हाल ही में भारतीय नागरिकों विशेषकर छात्रों को मौजूदा स्थिति की अनिश्चितताओं को देखते हुए उस देश को अस्थायी रूप से छोड़ने की सलाह दी थी। इसके साथ ही भारतीय नागरिकों से यूक्रेन में और उसके भीतर सभी गैर-जरूरी यात्रा से बचने के लिए भी कहा था। भारत सरकार से जुड़े सूत्रों ने कहा कि भारतीय दूतावास उस देश के घटनाक्रम की निगरानी करना जारी रखे हुए है।