नीति आयोग की पूर्व अधिकारी को गूगल ने बनाया भारत के लिए पॉलिसी हेड

पिछले साल फेसबुक और व्हाट्सएप के स्वामित्व वाली मेटा प्लेटफॉर्म्स इंक ने राजीव अग्रवाल को अपने साथ जोड़ा था। कई वर्षों तक भारत सरकार के साथ काम कर चुके राजीव को मेटा ने पॉलिसी हेड के पद पर नियुक्त किया था।

नीति आयोग की पूर्व अधिकारी को गूगल ने बनाया भारत के लिए पॉलिसी हेड
Photo by Pawel Czerwinski / Unsplash

दिग्गज टेक कंपनी गूगल ने भारत में अपने पॉलिसी हेड के पद पर नई नियुक्ति की है। यह जिम्मेदारी अर्चना गुलाटी को दी गई है। गुलाटी भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संघीय थिंक टैंक नीति आयोग में काम कर चुकी हैं। उल्लेखनीय है कि सख्त डाटा और प्राइवेसी नियामकों के साथ प्रतिस्पर्धा कानून का सामना कर रही बड़ी टेक कंपनियों ने कई सरकारी अधिकारियों को काम पर रखा है।

मीडिया रिपोर्ट्स में यह जानकारी सूत्रों के हवाले से आई है। अर्चना गुलाटी मार्च 2021 तक नीति आयोग में डिजिटल कम्युनिकेशंस के लिए संयुक्त सचिव के पद पर सेवाएं दे रही थीं। नीति आयोग एक ऐसा निकाय है जो विभिन्न क्षेत्रों में सरकार की नीति निर्माण प्रक्रिया के लिए बहुत महत्वपूर्ण है। इससे पहले 2014 से 2016 तक वह भारतीय प्रतिस्पर्धा आयोग (CCI) में वरिष्ठ अधिकारी थीं।

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार गूगल इंडिया के एक प्रवक्ता ने गुलाटी की नियुक्ति की पुष्टि की है। लेकिन इस बारे में विस्तार से कोई जानकारी नहीं दी है। हालांकि, कंपनी की ओर से अभी इसकी ओर से आधिकारिक जानकारी नहीं दी गई है। सीसीआई वर्तमान में स्मार्ट टीवी, एंड्रॉयड ऑपरेटिंग सिस्टम और इन-एप पेमेंट सिस्टम के बाजार में गूगल के कारोबारी आचरण पर नजर बनाए हुए है।

पिछले साल फेसबुक और व्हाट्सएप के स्वामित्व वाली मेटा प्लेटफॉर्म्स इंक ने राजीव अग्रवाल को अपने साथ जोड़ा था। कई वर्षों तक भारत सरकार के साथ काम कर चुके राजीव को मेटा ने पॉलिसी हेड के पद पर नियुक्त किया था। एक और सरकारी अधिकारी आनंद झा 2019 में वॉलमार्ट के साथ इसके इंडिया पब्लिक पॉलिसी ऑफिसर के तौर पर जुड़े थे। वर्तमान में वह भारत में ब्लैकस्टोन के लिए गवर्नमेंट रिलेशंस का प्रबंधन कर रहे हैं।