अफगान संकट: G-7 देशों के नेता चाहते हैं भारत व अफ्रीका भी बैठक में आए

जी-7 एक अंतर सरकारी राजनीतिक मंच है, जिसमें कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूके और यूएस जैसे सात अत्यंत प्रभावशाली देश शामिल हैं। इसका गठन 1975 में हुआ था।

अफगान संकट: G-7 देशों के नेता चाहते हैं भारत व अफ्रीका भी बैठक में आए

अफगानिस्तान पर चरमपंथी संगठन तालिबान के कब्जे के बाद पूरे विश्व में यह मुद्दा सुर्खियों में है। अब G-7 राष्ट्र (G-7 countries) के कर्ताधर्ता (Lawmakers) चाहते हैं कि भारत अफगान संकट को लेकर एक बैठक (Bloc Meeting) बुलाए। जिसमें अफगानिस्तान के बाद वैश्विक सुरक्षा और क्षेत्रीय स्थिरता पर चर्चा की जा सके।

मंगलवार को ब्रिटेन के प्रधानमंत्री बोरिस जॉनसन की अध्यक्षता में अफगानिस्तान में चल रहे संकट पर चर्चा करने के लिए जी-7 राष्ट्र की एक वर्चुअल बैठक हुई। इसमें सदस्य देशों से स्थिति को और खराब होने से बचाने के लिए जरूरी तरीकों की तलाश करने का अनुरोध किया गया। जी-7 एक अंतर सरकारी राजनीतिक मंच है, जिसमें कनाडा, फ्रांस, जर्मनी, इटली, जापान, यूके और यूएस जैसे सात अत्यंत प्रभावशाली देश शामिल हैं।