डलास म्यूज़ियम ऑफ आर्ट में दोनों बड़े पदों पर पहली बार भारतीय-अमेरिकी काबिज़

संस्थान के 119 साल के इतिहास में यह पहला अवसर है जब भारतीय-अमेरिकी मूल के ही वेणुगोपाल मेनन को बतौर बोर्ड सचिव और नटराजन को अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

डलास म्यूज़ियम ऑफ आर्ट में दोनों बड़े पदों पर पहली बार भारतीय-अमेरिकी काबिज़

तकनीक के क्षेत्र में भारतीय मूल के लोग पहले ही अमेरिका में झंडे गाड़ रहे हैं अब बारी है आर्ट्स की। भारतीय मूल के 2 अमेरिकी नागरिक पहली बार बड़े आर्ट म्यूजियम के प्रमुख पदों पर काबिज़ हो रहे हैं। डलास म्यूज़ियम ऑफ आर्ट (DMA) बोर्ड ऑफ़ ट्रस्टीज़ की ओर से हाल ही में हुए चुनाव में भारतीय-अमेरिकी मूल की गौरी नटराजन शर्मा को शीर्ष पद पर नियुक्त किया गया। संस्थान के 119 साल के इतिहास में यह पहला अवसर है जब भारतीय-अमेरिकी मूल के ही वेणुगोपाल मेनन को बतौर बोर्ड सचिव और नटराजन को अध्यक्ष नियुक्त किया गया है।

गौरी का चुनाव सर्वसम्मति से हुआ। वह कैथरीन मार्कस जोस का स्थान लेंगी। नई नियुक्तियों में चार नए अधिकारियों के साथ ही 12 चुने गए न्यासियों को भी शामिल किया गया है। इन सबकी पृष्ठभूमि अलग है और सबने ही अपने-अपने क्षेत्र में पहचान हासिल करने के साथ ही नेतृत्वकारी काम किया है।