फिजी में ​भारतीय मूल के किसान की अंतिम यात्रा में उमड़े कई गांव के लोग

बलबिंदर सिंह उर्फ बिन्नू को फिजी में रहने वाले स्थानीय परिवारों के लिए वहां मौजूद विदेशी महमानों ने भी भावानात्मक विदाई दी।

फिजी में ​भारतीय मूल के किसान की अंतिम यात्रा में उमड़े कई गांव के लोग

विदेशी जमीं पर इतना प्यार मिले तो आंखें भर ही जाती हैं। फिजी एक छोटा सा द्वीप है जहां गन्ने की खेती करने वाले भारतीय मूल के एक पंजाबी शख्स की बीते दिनों एक हादसे में मौत हो गई। बलबिंदर सिंह को यहां प्यार से सभी लोग बिन्नू बुलाते थे। अपनी सामाजिक गतिविधियों और स्थानीय लोगों के प्रति बिन्नू का समर्पण इतना था कि बिन्नू की अंतिम विदाई में फिजी के ढेरों लोग शरीक हुए। 48 वर्षीय बिन्नू के अंतिम संस्कार में आसपास के गांवों के भी कई लोग शामिल हुए थे।

बलबिंदर सिंह को फिजी में रहने वाले स्थानीय परिवारों के लिए वहां मौजूद विदेशी महमानों ने भी भावानात्मक विदाई दी। बिन्नू के पार्थिव शरीर को फिजी के वारोको श्मशान घाट ले जाकर अंतिम संस्कार कराया गया। बलबिंदर की मौत 5 फरवरी की रात लगभग 9 बजे हुई थी। बिन्नू अपने घर जा रहा था जब उसका ट्रैक्टर बाढ़ के पानी में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इंडियन स्टार को बलबिंदर सिंह उर्फ बिन्नू से जुड़ी जानकारी फेसबुक पर एक कम्युनिटी पेज 'ना टेकी रोरोआ' से मिली है।